इंदौर से करीम, जावेद, कुरैशी गिरफ्तार
   Date23-Sep-2022

de10
इंदौर द्य स्वदेश समाचार
आतंकवाद को आर्थिक सहयोग का राष्ट्रघाती कार्य करने वाले इंदौर के 4 पीएफआई कार्यकर्ताओं पर आधी रात को शिकंजा कसा गया। मालवा-निमाड़ में दशकों पहले सिमी के आतंकवादी प्रशिक्षण शिविर का भंडाफोड़ होने के बाद अब तक यह सबसे बड़ी कार्रवाई है। मालवा-निमाड़ में सिमी के स्थान पर आतंकवादी स्लीपर सेल के रूप में पीएफआई के कार्यकर्ता राष्ट्रद्रोही गतिविधियों को लगातार आगे बढ़ाते रहे। एनआईए और ईडी ने गुरुवार आधी रात को इंदौर और उज्जैन से पीएफआई के 4 सदस्यों को गिरफ्तार किया है। इंदौर से पीएफआई के प्रदेशाध्यक्ष अब्दुल करीम बेकरीवाला, अब्दुल जावेद और मुमताज कुरैशी को उठाया है। एनआईए ने उज्जैन से जमील शेख नामक युवक को हिरासत में लिया है। इनके पास से कई तरह के संदिग्ध और भड़काऊ दस्तावेज भी जब्त किए हैं। यह कार्रवाई इंदौर के सदर बाजार, छीपाबाखल और उज्जैन के कोतवाली थाना क्षेत्र में देर रात 1 से 3 बजे की बीच की गई। इंदौर में कार्रवाई के दौरान एनआईए के 2 दर्जन से ज्यादा अधिकारी मौजूद थे। इनमें 10 से 11 लेडी अफसर भी थीं। कार्रवाई सुबह 7 बजे तक चली कार्रवाई। जिस बिल्डिंग में पीएफआई का दफ्तर है, उसके सीसीटीवी फुटेज एनआईए के अधिकारी ले गए हैं।
रात तीन बजे उठाया करीम को-वैसे तो छापे की कार्रवाई रात 1 बजे से शुरू हो गई थी। सूत्रों की माने तो अब्दुल करीम को रात तीन बजे उसके घर से उठाया गया। एनआईए के दल ने उसके घर से मोबाइल, लैपटॉप, प्रिंटर और कागजात जब्त किए हैं।
तीनों के आपराधिक रिकार्ड खंगाल रही पुलिस-पुलिस के सूत्रों का कहना है कि पीएफआई के अब्दुल करीम बेकरीवाला, मोहम्मद जावेद बेलम और मुमताज का आपराधिक रिकार्ड खंगाल जा रहा है। पुलिस को जावेद के आपराधिक रिकार्ड पता चला है। इसके साथ करीम के खिलाफ भी तीन अपराध दर्ज हैं।
बम्बई बाजार में था पहले कार्यालय-पीएफआई का कार्यालय बम्बई बाजार के ताज बिल्डिंग में था। तब पंढरीनाथ और सराफा पुलिस ने एक साथ कार्रवाई की थी। एक साल पहले पीएफआई के सदस्यों द्वारा मुस्लिम युवाओं को भड़काने का मामला सामने आया था। इसके बाद प्रशासन ने पीएफआई के अब्दुल रऊफ बेलिम को जिलाबदर की कार्रवाई की थी। वहीं जाहिद पठान पर रासुका भी लगाई थी। इसके बाद से ही पुलिस प्रशासन की नजर इनके कार्यकर्ताओं पर थी। क्राइम ब्रांच भी भड़काऊ मैसेज भेजने वालों पर नजर रखे हुए थी।