गहलोत अध्यक्ष बनेंगे तो छोड़ेंगे मुख्यमंत्री की कुर्सी
   Date23-Sep-2022

de5
स्वससे द्य जयपुर
राहुल गांधी ने गुरुवार को कोच्चि में पार्टी के अध्यक्ष पद के दावेदारों को संकेत और सलाह भी दीं। उन्होंने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के अध्यक्ष और मुख्यमंत्री पद साथ रखने की इच्छा पर कहा कि उदयपुर अधिवेशन में एक व्यक्ति-एक पद पर हमने जो फैसला किया था, वह कायम रहेगा। हालांकि गहलोत ने आज सुबह ही कह दिया था कि अध्यक्ष का पद एक व्यक्ति-एक पद के दायरे में नहीं आता, लेकिन इतिहास में कोई कांग्रेस अध्यक्ष मुख्यमंत्री नहीं रहा, इसलिए फैसला करना पड़ेगा।
अध्यक्ष पद वैचारिक और एक विश्वास प्रणाली : राहुल ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सिर्फ एक संगठनात्मक पद नहीं है, यह एक वैचारिक पद और एक विश्वास प्रणाली है। जो कोई भी कांग्रेस अध्यक्ष बनते हैं, उन्हें याद रखना चाहिए कि वे एक ऐतिहासिक स्थान ले रहे हैं। एक ऐसा स्थान जो भारत के एक विशेष दृष्टिकोण को परिभाषित करता है। होने वाले कांग्रेस अध्यक्ष को विचारों के एक समूह, एक विश्वास प्रणाली और भारत के एक दृष्टिकोण का प्रतिनिधित्व करना होगा।
पायलट के सवाल पर गहलोत बोले- ये नाजुक फैसला: पायलट को मुख्यमंत्री बनाने के सवाल पर गहलोत ने कहा कि जो हालत राजस्थान के अंदर हैं, हाईकमान उसका अध्ययन करेगा और देखेगा कि विधायकों की क्या भावना है। यह ध्यान रखना होगा कि हम अगला चुनाव जीतें, क्योंकि अब कांग्रेस के पास बड़ा राज्य राजस्थान ही है। हमारे लिए यह फैसला बहुत नाजुक फैसला भी होगा और बहुत सोच-समझकर लेना पड़ेगा।