पति प्रिंस फिलिप की कब्र के पास दफनाया
   Date20-Sep-2022

rf8
महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार
लंदन द्य १९ सितंबर (ए)
महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के अंतिम संस्कार की रस्में पूरी हुई। स्टेट फ्यूनरल यानी राजकीय सम्मान की रस्में पूरी की जा चुकी हैं। प्राइवेट फ्यूनरल की रस्में पूरी की गईं। इसके लिए उनके पार्थिव शरीर को विंडसर कैसल लाया गया है। किंग चाल्र्स की अगुआई में रॉयल फैमिली यहां पहुंची। महारानी को भारतीय समय के अनुसार रात करीब 12 बजे सेंट जॉर्ज मेमोरियल चैपल में पति प्रिंस फिलिप की कब्र के पास दफनाया गया।
राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने श्रद्धांजलि दी - इसके पहले, स्टेट फ्यूनरल फंक्शन में हेड ऑफ द स्टेट्स ने क्वीन को श्रद्धांजलि दी। इनमें भारत की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन भी शामिल थे। शाही परिवार के सदस्य का दर्जा छोड़ चुके किंग चार्ल्स के बेटे प्रिंस हैरी ने क्वीन एलिजाबेथ के कॉफिन को सैल्यूट नहीं किया। इसकी काफी चर्चा हो रही है।
वेस्टमिंस्टर ऐबे में हुआ स्टेट फ्यूनरल - इसके पहले, रॉयल गार्ड्स की परेड के साथ क्वीन का कॉफिन यानी ताबूत वेस्टमिंस्टर हॉल से वेस्टमिंस्टर ऐबे लाया गया। शाही परिवार के लोग गन कैरीज (तोपगाड़ी) के पीछे चल रहे थे। अंतिम संस्कार की तमाम रस्में डीन ऑफ वेस्टमिंस्टर डेविड होयले ने पूरी कराईं। उनके साथ केंटरबरी के आर्कबिशप जस्टिन वेल्बी मौजूद रहे। शाही रीति-रिवाजों के मुताबिक क्वीन के निधन पर शोक जताया गया, प्रेयर्स हुईं। प्राइम मिनिस्टर लिज ट्रस ने छोटा भाषण दिया।
शाही परिवार की तरफ से एक प्रस्ताव पढ़ा गया। फिर दो मिनट का मौन रखा गया। इसके साथ ही स्टेट फ्यूनरल की रस्में पूरी हो गईं। इस दौरान भारत की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू, अमेरिकन प्रेसिडेंट बाइडेन समेत दुनियाभर से आए राष्ट्राध्यक्ष मौजूद रहे। स्टेट फ्यूनरल के बाद बाइडेन समेत कुछ राष्ट्राध्यक्ष अपने-अपने देशों के लिए रवाना हो गए।