इंदौर-भोपाल में तेज बारिश
   Date09-Aug-2022

rf4
तवा डैम के 13 में से 7 गेट खोले, ग्वालियर-चंबल में नदी-नाले उफनाए
भोपाल ठ्ठ 8 अगस्त (ब्यूरो)
मध्यप्रदेश में एक बार फिर बारिश का दौर शुरू हो गया है। भोपाल में सोमवार शाम करीब 5.45 बजे तेज बारिश शुरू हो गई। इससे पहले दिनभर धूप-छांव का दौर चलता रहा। शाम को बादल छाए और बारिश होने लगी। 24 घंटे में ग्वालियर में सबसे ज्यादा 4 इंच पानी गिरा। श्योपुर में नदी-नाले उफना गए। इन्दौर में भी शाम 6.30 बजे बाद झमाझम बारिश शुरू हुई जो देर तक चलती रही।
विजयपुर (श्योपुर) शिवपुरी और ग्वालियर से जोडऩे वाले स्टेट हाईवे स्थित जंगल के नाले पर बने पटपढ़ा और चंदेली रपटे डूब गए। विजयपुर का शिवपुरी और ग्वालियर से संपर्क कट गया है। रविवार देर रात तक यहां तीन फीट पानी था। चंदेली रपटे को पार करने के प्रयास में बाइक समेत सवार बहने से बाल-बाल बचे। भिंड के मौ कस्बे में सर्किट हाउस पर झिलमिल नदी का पानी पुराने पुल के ऊपर बह रहा है। मौ-मेहगांव रोड पर ट्रैफिक बंद हो गया। बैतूल और पचमढ़ी में हो रही अच्छी बारिश की वजह से तवा डैम के 13 में से 7 गेट खोलकर 54565 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। सुबह 9 बजे से पहले डैम के 3 गेट तीन-तीन फीट तक खोले गए थे, इसके बाद 4 गेट और खोल दिए गए। उधर, तेज बारिश के बीच बिजली गिरने से प्रदेश में दो दिन में 7 लोगों की मौत हो गई। विदिशा में 4 तो सतना में 3 लोगों की जान चली गई। भोपाल, बैतूल, इंदौर, दमोह, मंडला, सागर और सतना में भी कहीं-कहीं बारिश हुई।