2300 करोड़ की 5 सड़कों का शिलान्यास
   Date02-Aug-2022

ed4
केन्द्रीय मंत्री गडकरी ने इन्दौर के 5 सहित प्रदेश के 20 फ्लाईओवर ब्रिज को भी दी स्वीकृति
इन्दौर द्य स्वदेश समाचार
इंदौर सहित पूरे मध्यप्रदेश और समूचे देश में अधोसंरचनाओं का निर्माण तेजी से हो रहा है। यह हमारा जनता के प्रति उत्तरदायित्व है। जनता ने जो हमें दिया है, वह हम उन्हें लौटा रहे हैं। सड़कों के विकास पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। सड़कों के निर्माण और इससे जुड़े अधोसंरचनाओं तथा परिवहन संबंधी परियोजनाओं में नई और उन्नत तकनीकों का इस्तेमाल किया जा रहा है। इससे लागत में बड़ी कमी आ रही है, वहीं गुणवत्ता में भी सुधार हो रहा है। हमारा लक्ष्य है कि 2024 तक मप्र में 4 लाख करोड़ के निर्माण कार्य प्रगति पर हो। कार्यक्रम में मंत्री गडकरी ने इन्दौर के 5 सहित प्रदेश के 20 फ्लाईओवर ब्रिज को भी स्वीकृति दी है।
यह बात केन्द्रीय सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने सोमवार को ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर में कही। यहां पर उन्होंने 119 किलोमीटर लंबी 2300 करोड़ की पांच परियोजनाओं का शिलान्यास किया। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान भी मौजूद थे, जबकि सड़क परिवहन तथा राजमार्ग राज्य मंत्री वी.के. सिंह वीडियो कॉन्फ्रेसिंग से शामिल हुए। मंत्री गडकरी ने कहा कि पर्यावरण सुधार की ओर भी विशेष ध्यान देने की जरूरत है। प्रदूषण से मुक्ति के लिए वाहनों में ईंधन के गैर परम्परागत स्त्रोत का उपयोग किया जाना चाहिए, इससे सस्ता र्इंधन प्राप्त होगा, वहीं पर्यावरण सुधरेगा तथा यात्रियों को भी कम किराया देना होगा। इसके लिए इलेक्ट्रिक, बायो गैस, बायो डीजल, ग्रीन हाईड्रोजन, बायो मिथेनॉल आदि गैर पारम्परिक स्त्रोतों से संचालित वाहनों को बढ़ावा दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि ट्रांसपोर्ट सेक्टर को भी तेजी से बदलना होगा। किसान को ऊर्जा दाता बनाना होगा, यह प्रयास करने की जरूरत है कि हम ऊर्जा का आयात करने वाला देश नहीं बल्कि निर्यात करने वाला देश बनाए। नए विजन के साथ कार्य करें। कार्यक्रम में प्रदेश के ओंकारेश्वर,ओरछा सहित अन्य पर्यटन व धार्मिक स्थानों पर रोप वे चलाने के लिए केन्द्र व राज्य सरकार के अधिकारियों के बीच एमओयू भी हुआ। स्वागत भाषण देते हुए सांसद शंकर लालवानी ने कहा कि आज इंदौर के इतिहास में एक नया अध्याय लिखा गया है। इंदौर को एक बड़ी सौगात मिली है। उन्होंने इंदौर के विकास के लिए बनाए गए विजन डाक्यूमेंट के अनुसार विभिन्न विकास कार्य स्वीकृत करने का आग्रह केन्द्रीय मंत्री गडकरी से किया। कार्यक्रम को लोनिवि मंत्री गोपाल भार्गव ने भी संबोधित किया।
इन परियोजनाओं का हुआ शिलान्यास- कार्यक्रम में इंदौर-खलघाट खंड एनएच 3 मॉडल पर वन वे साइड एमिनिटी निर्माण कार्य का लोकार्पण किया गया। जिन परियोजनाओं का शिलान्यास किया गया, उनमें इंदौर शहर में तेजाजी नगर से बलवाड़ा (इंदौर-बुरहानपुर खंड एनएच-347बीजी) पर 4 लेन का निर्माण कार्य, इंदौर-राघौगढ़ (इंदौर हरदा खंड एनएच-47) पर 4 लेन का निर्माण कार्य, राऊ सर्कल (इंदौर) के 6 लेन फ्लाईओवर, डीपीएस - राऊ सर्कल (इंदौर) पर 6 लेन पर सर्विस रोड का पुन: निर्माण एवं तेजाजी नगर से बलवाड़ा खंड (एनएच-347बीजी) पर मौजूदा सड़क का सुदृढ़ीकरण कार्य शामिल हैं।
प्रदर्शनी का अवलोकन- केन्द्रीय मंत्री गडकरी तथा मुख्यमंत्री चौहान ने प्रदेश में सड़क अधोसंरचनाओं के विकास संबंधी कार्यक्रम स्थल पर लगाई गई प्रदर्शनी का अवलोकन किया। इस अवसर पर प्रमुख सचिव लोक निर्माण विभाग नीरज मण्डलोई ने परियोजनाओं की जानकारी दी।
ये भी थे मौजूद- कार्यक्रम में लोक निर्माण मंत्री गोपाल भार्गव, जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट, पर्यटन मंत्री सुश्री उषा ठाकुर, लोक निर्माण राज्य मंत्री सुरेश धाकड़, सांसद शंकर लालवानी, देवास सांसद महेन्द्र सिंह सोलंकी, नवनिर्वाचित महापौर पुष्यमित्र भार्गव, विकास प्राधिकरण अध्यक्ष जयपाल सिंह चावड़ा, सावन सोनकर, विधायक मालिनी गौड़, रमेश मेंदोला, आकाश विजयवर्गीय, महेन्द्र हार्डिया, जीतू पटवारी, मनोज चौधरी, देवेन्द्र वर्मा, गौरव रणदिवे, सुदर्शन गुप्ता, जीतू जिराती, मधु वर्मा आदि मौजूद थे। कार्यक्रम में सड़क परिवहन तथा राजमार्ग राज्य मंत्री वी.के. सिंह वीडियो कॉन्फ्रें सिंग से शामिल हुए।
इंदौर में पांच फ्लाईओवर- सांसद शंकर लालवानी की मांग पर मूसाखेड़ी, देवास नाका, सत्यसांई, मरीमाता और आईटी पार्क पर पांच नए फ्लाईओवर को मिली स्वीकृति।
इंदौर को ये सौगातें भी मिली- दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे को इंदौर से सूरत, बड़ौदा और मुंबई जाने के लिए कनेक्टिविटी दी जाने, पश्चिमी इंदौर में बायपास बनाने, इंदौर में केबल कार शुरू करने, इलेक्ट्रिक बसों की संख्या बढ़ाने तथा इंदौर से हरदा पुराने रोड यानी देवगुराडिय़ा के पास से जाने वाली सड़क को वन टाइम सेटलमेंट के तहत फोरलेन बनाने की मांग भी की मंत्री गडकरी ने स्वीकृत।
प्रदेश के 20 फ्लाईओवर ब्रिज स्वीकृत- मुख्यमंत्री केआग्रह पर मध्यप्रदेश में सड़क संबंधी विभिन्न प्रोजेक्ट्स को मंजूरी दी गई, इसमें 20 फ्लाईओवर तथा 14 जगहों पर रोपवे संबंधी काम भी शामिल हैं, इसमें भोपाल, सागर, ग्वालियर, जबलपुर, रतलाम, खण्डवा, धार, छतरपुर, विदिशा आदि शहरों के फ्लाईओवर ब्रिज
शामिल हैं।