नर्मदा का जलस्तर 30 फीट बढ़ा, ओंकारेश्वर बांध के 16 गेट खोले
   Date12-Aug-2022

ed5
ओंकारेश्वर ठ्ठ स्वदेश समाचार
प्रदेश में हो रही लगातार बारिश के कारण खण्ड़वा जिले की दो प्रमुख एवं बिजली बनाने की सबसे बड़ी परियोजना ओंकारेश्वर बांध एवं इंदिरा सागर बाँध परियोजना पानी से लबालब हो गई हैं। ओंकारेश्वर बाँध के जलाशय का जलस्तर 196.58 मीटर पहुंचने से गुरुवार सुबह करीब 10 बजे बांध के 16 गेट खोल दिए गए हैं। आधा-आधा मीटर की ऊंचाई तक खोले गए ओंकारेश्वर बाँध से नर्मदा में प्रति सेकंड 5400 क्यूमेक्स पानी छोड़ा जा रहा है। इससे बांध के डाउन स्ट्रीम में नर्मदा का जलस्तर करीब 30 फीट तक बढ़ गया है। ओंकारेश्वर बांध प्रबंधन के पावर स्टेशन एवं बाढ़ नियंत्रण प्रकोष्ठ के के.एस पांडे ने बताया कि बर्षा के रौद्र रूप को देखते हुए एतिहात बतौर गेट खोले गए हैं। डाउनस्ट्रीम के सभी जिला प्रशासन को इसकी सूचना दे दी गई है। लोगों और नाविकों को नर्मदा और बांध क्षेत्र से दूर रहने की हिदायत दी गई है। वहीं ओंकारेश्वर में नगर परिषद की ओर से लाउडस्पीकर पर लगातार लोगों को नर्मदा नदी के नजदीक नहीं जाने की चेतावनी दी जा रही है। मध्यप्रदेश में बारिश जारी - मौसम विज्ञान केन्द्र भोपाल के वैज्ञानिकों के अनुसार पूर्वी मध्यप्रदेश में बने कम दबाव के क्षेत्र और एक 'ट्रफÓ लाइन के प्रदेश से गुजरने के चलते मध्यप्रदेश में बारिश का यह क्रम लगातार जारी है। इसका सबसे अधिक प्रभाव प्रदेश के दक्षिण और पश्चिम के हिस्सों पर देखा गया, जहां झमाझम बारिश का दौर जारी है। रतलाम में पिछले चौबीस घंटों के दौरान 125 मिमी वर्षा रिकार्ड हुई, जिससे वहां कई जगहों पर जलभराव जैसी स्थिति निर्मित हो गई। वहीं, राजधानी भोपाल में कल से जारी बारिश का क्रम आज भी दिन भर रुक रुक का चलता रहा।
इस बीच रतलाम में 125 मिमी, छिंदवाड़ा में 70़ 7 मिमी, भोपाल में 56़ 5 मिमी, पचमढी में 48़ 8 मिमी, सागर में 42़ 6 मिमी, रायसेन में 39़ 2 मिमी, नर्मदापुरम में 35़ 2 मिमी, इंदौर में 31़ 8 मिमी, बैतूल में 28़ 8 मिमी, उज्जैन में 21 मिमी, धार में 20़ 4 मिमी, खंडवा में 18़ 6 मिमी, दमोह में 16 मिमी, खरगोन में 15़ 8 के अलावा प्रदेश के अन्य स्थानों पर वर्षा रिकार्ड की गई है। उधर, झाबुआ और अलीराजपुर जिलों में भी बारिश का सिलसिला जारी है। झाबुआ जिले में पिछले दो दिनों से लगातार हो रही भारी बारिश के चलते जिले भर में नदी नाले उफान पर आ गए हैं। जिले की अनास, पम्पावती, पदमावती, नौगांवा, माही आदि नदियां उफान पर बह रही हैं। पेटलावद क्षेत्र मेें कई रपटों पर से पानी ऊपर से जाने से ग्रामीण क्षेत्रों का सडक संपर्क भी प्रभावित हुआ है। इसी तरह अलीराजपुर में भी लगातार बारिश से आम जनजीवन प्रभावित हुआ है। नदी नाले उफान पर बह रहे हैं।