प्रदेश में बारिश, कई बांधों के गेट खोले
   Date25-Jul-2022

sd7
भोपाल द्य 24 जुलाई (वा)
मानसून के सक्रिय रहने के चलते मध्यप्रदेश में राजधानी भोपाल सहित अनेक स्थानों पर झमाझम बारिश होने के कारण नर्मदा सहित अन्य प्रमुख नदियां एवं नाले उफान पर बह रहें हैं। वहीं, राजधानी भोपाल के भदभदा और कलियासोत डैम सहित अनेक स्थानों पर बांध के गेट खोल दिए गए हैं। मौसम विज्ञान केन्द्र भोपाल के वैज्ञानिकों के अनुसार पिछले चौबीस घंटों के दौरान राजधानी भोपाल सहित प्रदेश के अन्य स्थानों पर झमाझम बारिश होने के कारण नदी-नाले उफान पर बह रहे हैं। इसके चलते भोपाल के भदभदा डैम के कल दो गेट खोले गए थे, जिसे बढ़ाकर आज सात गेट खोल दिए गए। इसी तरह कलियासोत बांध के भी आज गेट खोल दिए गए हैं। इसके अलावा सीहोर जिले में कोलार डैम के चार गेट, खंडवा में इंदिरा सागर बांध के बारह तथा ओंकारेश्वर बांध के 18 गेट खोल दिए गए है। प्रदेश में अभी भी वर्षा का दौर जारी है। सीहोर जिले में लगातार हो रही बारिश के चलते आज अंबर नदी की बाढ़ में नंदगांव के एक ही परिवार के बारह सदस्य घिर गए, जिनमें से दस को रेस्क्यू कर सुरक्षित निकाल लिया गया है। एक ट्रक नदी का पुल पार करते समय गिर गया। हालांकि इस दुर्घटना में ट्रक का चालक और क्लीनर बच गए। इससे पहले कल रात्रि में राजधानी भोपाल में 46़ 3 मिमी, बैतूल में 71़ 4 मिमी, नर्मदापुरम में 69 मिमी, नरसिंहपुर में 64 मिमी, पचमढ़ी में 51 मिमी, नौगांव में 47़ 4 मिमी, खजुराहो में 37 मिमी, सीधी में 33 मिमी, सतना में 23़ 2 मिमी, जबलपुर में 14़ 9 मिमी, खंडवा में 13 मिमी के अलावा अन्य स्थानों पर बारिश हुयी। वहीं, आज दिन में भोपाल में 61़ 6 मिमी, पचमढ़ी में 17 मिमी, नर्मदापुरम में 22 मिमी, गुना में 21 मिमी, सागर में 15 मिमी, सीधी में 14 मिमी के अलावा प्रदेश के अन्य स्थानों पर वर्षा रिकार्ड की गयी है।भोपाल में पिछले तीन दिन से लगातार बारिश हो रही है। पिछले 24 घंटों में 3 इंच से ज्यादा बारिश हो चुकी है। हालात ये है कि सड़कों और कॉलोनियों में पानी भर गया है। जगह-जगह जलजमाव के हालात बन गए हैं। कोलार, कलियासोत और भदभदा डैम लबालब हो गए हैं। इन डैम के गेट खोलकर पानी छोड़ा जा रहा है।
कलियासोत डैम के 9 गेट खोले - सीहोर में लगातार बारिश के बाद पहले भदभदा और फिर रविवार को कलियासोत डैम के 9 गेट खोलने प?े। यहां से हर सेकंड 900 क्यूसेक पानी छो?ा जा रहा है। ऐसे में यहां से छोड़े गए पानी से अब मंडीदीप और विदिशा में लोगों की परेशानी ब? सकती है। कोलार डैम के लबालब होने के बाद रविवार दोपहर यहां के भी 4 गेट खोल दिए गए। कलियासोत डैम के गेट खुलने के बाद ब?ी संख्या में उसे देखने लोग पहुंच रहे हैं। कई लोग जान जोखिम में डालकर पानी के पास जाते भी नजर आए। प्रदेश में जारी वर्षा के बीच अगले चौबीस घंटों के दौरान भोपाल संभाग के जिलों के अलावा गुना, आगरमालवा और शाजापुर में जहां अति भारी से अत्यधिक भारी वर्षा का 'ओरेंजÓ अलर्ट जारी किया गया है। वहीं, शहड़ोल, नर्मदापुरम संभागों के जिलों तथा शिवपुरी, श्योपुर, नीमच, मंदसौर, खंडवा, छिंदवाड़ा, सिवनी, मंडला, बालाघाट और नरसिंहपुर जिलों में कहीं कहीं भारी से अति भारी बारिश का 'ऐलोÓ अलर्ट जारी किया गया है। इसके अलावा प्रदेश के अन्य स्थानों पर गरज चमक के साथ बिजली गिरने की संभावना व्यक्त की गयी है।राजधानी भोपाल में कल रात हुयी बारिश के बाद आज सुबह से तेज बारिश का दौर जारी रहा, जो दोपहर तक चलता रहा है। हालांकि इसके बाद इसमें कमी आयी, लेकिन इस दौरान घने बादल आसमान में छाए रहे। अगले चौबीस घंटों के दौरान भी यहां अति भारी से अत्यधिक भारी वर्षा होने की चेतावनी जारी की गयी है। यहां दिन का तापमान 25़ 7 डिग्री सेल्यियस दर्ज किया गया, तो वहीं, रात्रि का तापमान 22़ 8 डिग्री रहा। यहां दिन और रात्रि के तापमान में लगभग तीन डिग्री का अंतर देखा गया।