ओंकारेश्वर के 14, तवा बांध के 13 गेट खोले
   Date24-Jul-2022

fv1
भोपाल द्य 23 जुलाई (ब्यूरो)
मध्यप्रदेश के अलग-अलग इलाकों में लगातार हो रही बारिश के चलते नदी-नाले उफान पर है। नर्मदा, चंबल, शिप्रा और ताप्ती समेत प्रदेश की छोटी-बड़ी नदियां उफन रही हैं। इन नदियों पर बने बांध की लबालब भर गए है। जलस्तर लगातार बढ़ रहा है। जिसके चलते खंडवा के ओंकारेश्वर डैम के 14 गेट, नर्मदापुरम के तवा डैम के 13 गेट खोले गए है। भोपाल में शुक्रवार रात से हो रही बारिश शनिवार दोपहर तक जारी रही। सुबह तो करीब 2 घंटे तक झड़ी लगी। भोपाल का भदभदा डैम भी लबालब भर गया है। जिसके बाद भदभदा डैम का एक गेट खोलकर पानी छोड़ा जा रहा है।
नर्मदा का जलस्तर 25 फुट बढ़ा - शनिवार सुबह 9 बजे से ओम्कारेश्वर बांध के पहले सात गेट खोले गए इसके बाद तीन गेट और खोले जाने के साथ ही बांध के 14 गेट खोले गए। इस कारण नर्मदा नदी का जलस्तर 25 फीट के लगभग बढ़ गया है नर्मदा में बाढ़ की स्थिति निर्मित होने के कारण नावों का संचालन नगर परिषद ओंकारेश्वर द्वारा बंद करवा दिया गया है। सुबह 9 बजे से प्रति घंटा 1000 क्यूसेक मीटर पानी ओंकारेश्वर बांध से छोड़ा जा रहा है। रात्रि तक कुल मिलाकर 32000 क्यूसेक मीटर पानी छोड़ा जाएगा। ओंकारेश्वर में ब्रम्हपुरी का नवीन घाट, गोमुख घाट, श्रीमद्भागवत घाट एवं अभय घाट के साथ ही चक्रतीर्थ घाट के साथ ओंकार मठ घाट, बर्फानी धाम घाट एवं ऋण मुक्तेश्वर संगम स्थल घाट जलमग्न हो गए हैं। अनेक प्रांतों से हजारों की संख्या में श्रद्धालु गण ओंकारेश्वर मंदिर एवं ममलेश्वर ज्योतिर्लिंग मंदिर में भगवान भोलेनाथ के दर्शन हेतु सपरिवार पहुंच रहे हैं।