गंभीर वैश्विक परिस्थितियों के बादभी भारतीय अर्थव्यवस्था बेहतर
   Date23-Jul-2022

df4
मुंबई द्य 22 जुलाई (वा)
भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के गर्वनर डॉ शक्तिकांत दास ने कहा है कि इस समय भू-राजनैतिक अस्थिरता और गंभीर वैश्विक परिस्थितियों के बावजूद भारतीय अर्थव्यवस्था की स्थिति अपेक्षाकृत बेहतर है।
श्री दास ने शुक्रवार को कहा कि आरबीआई के वित्तीय स्थिरता की रक्षा करते हुए ऐसा अनुकूल नियामकीय वातावरण तैयार करने को प्रतिबद्ध है जिसमें स्वस्थ तरीके से नए परिवर्तनकारी नवप्रवर्तनों को समाहित किया जा सके। आरबीआई गवर्नर ने कहा इतिहास दर्शाता है कि जब प्रौद्योगिकी, बाजार के प्रतिभागी और नियामकीय संस्थाएं मिलकर काम करते हैं तो उससे क्रांतिकारी नवप्रवर्तन होते हैं और आर्थिक वृद्धि तेज होती है। मुझे उम्मीद है कि हमारे बैंक आने वाले दिनों में इसको सही सिद्ध करेंगे। श्री दास मुंबई में बैंक ऑफ बड़ौदा वार्षिक बैंकिंग सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में बैंकिंग, व्यवसाय और अधिक सहयोग मूलक होने के साथ-साथ पहले से अधिक प्रतिस्पर्धी होगा, जिसमें नई प्रवेश करने वाली इकाइयां नए-नए नवप्रवर्तनकारी उत्पाद लेकर आएंगी। वर्तमान बैंकों को इस सतत परिवर्तनशील वातावरण के लिए तैयार रहना होगा।
और साथ ही उन्हें कारोबार के उपयुक्त मॉडल स्वस्थ विकास, स्थिरता और ग्राहकों के संतोष पर ध्यान केंद्रित रखना होगा। श्री दास ने कहा इससे भी महत्वपूर्ण कंपनी के संचालन की अच्छी नीति है। अच्छा संचालन सफलता का मूल आधार होता है और इससे समझौता नहीं किया जाना चाहिए।