आदिवासी समाज की उपेक्षा की कांग्रेस ने - गृहमंत्री शाह
   Date08-Jun-2022

rf4
नई दिल्ली द्य 7 जून (ए)
केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कांग्रेस की पूर्ववर्ती सरकारों पर आदिवासी समुदाय की उपेक्षा करने का आरोप लगाते हुए आज कहा कि इनके विकास पर समुचित ध्यान नहीं दिया गया।
श्री शाह ने मंगलवार को यहां राष्ट्रीय जनजातीय अनुसंधान संस्थान का उद्घाटन करते हुए इसकी तुलना योजना आयोग से की और कहा कि आदिवासी समाज के विकास में इसकी भूमिका वही होगी जैसी योजना आयोग की देश के विकास में रही है। उन्होंने कहा कि यह संस्थान देश के दो दर्जन से भी अधिक जनजातीय अनुसंधान संस्थानों को राष्ट्रीय स्तर पर जोड़ते हुए एक सूत्र में बांधने का काम करेगा तथा इसके दूरगामी परिणाम होंगे। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस सरकार की नीतियों में आदिवासी समुदायों की उपेक्षा की गई और उन्हें विकास की धारा से दूर रखा गया। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने आदिवासी समुदाय तथा क्षेत्रों के लिए बजट में कई गुना बढ़ोतरी करते हुए 150 करोड़ रुपए का बजट आवंटित किया है। उन्होंने कहा कि यदि कांग्रेस सरकार ने इस समुदाय पर समुचित ध्यान दिया होता तो आज इस तरह का संस्थान बनाने की जरूरत नहीं पड़ती। श्री शाह ने कहा कि श्री नरेन्द्र मोदी ने गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में भी आदिवासी समाज के विकास के लिए अनेक काम किए थे और अब राष्ट्रीय स्तर पर भी देश की आठ फीसदी आबादी वाले जनजातीय समाज को एक सूत्र में पिरोने के लिए उन्होंने इस संस्थान की कल्पना की। प्रधानमंत्री ने राष्ट्रीय स्तर पर भी इस दिशा में कदम उठाते हुए आठ फीसदी आबादी वाले जनजातीय समाज को एक सूत्र में पिरोने के लिए इस संस्थान की कल्पना की थी और आज इसका उद्घाटन किया गया है।