जीवन में सबक होती हैं गलतियां
   Date27-Jun-2022

dharmdhara
धर्मधारा
आ यरिश उपन्यासकार जेम्स जॉयस के अनुसार, गलतियां नए आविष्कारों के लिए राहें बनाती हैं। अभी हाल ही की एक घटना है, जिसमें अमेजन वेबसाइट में काम करने वाले एक वरिष्ठ कर्मचारी की वजह से चौबीस घंटे से अधिक नेटवर्क बाधित रहा। उस शख्स ने गलती से नेटवर्क का रूट बदल दिया था। अपनी गलती का एहसास होते ही उसने तुरंत मेल करके अपने अधिकारियों को इस बारे में बताया और सुधार में लग गया। इसके साथ ही उसने अपनी गलती के कारण नौकरी छोडऩे की पेशकश भी की, लेकिन कंपनी के समझदार प्रबंधकों ने उसकी त्वरित कार्रवाई की प्रशंसा की और लीडरशिप मीटिंग में भी उस व्यक्ति का जिक्र करते हुए कहा कि गलतियां आपको बहुत कुछ सिखाती हैं, हालांकि गलती करने के बाद आपकी प्रतिक्रिया कैसी होती है, इससे भी बहुत कुछ तय होता है। मनोवैज्ञानिक सलाहकार डॉ. रॉबर्ट वुड्स के अनुसार, अगर व्यक्ति अपने कार्य के प्रति ईमानदार है, तो वह जान-बूझकर गलतियां नहीं करेगा, लेकिन यदि कोई व्यक्ति सोची-समझी गई साजिश के तहत गलतियां कर रहा है तो इसके नतीजे भुगतने के लिए उसे तैयार रहना होगा; क्योंकि इसका परिणाम कुछ भी हो सकता है। अनजाने में हुई गलतियां चाहे कार्य से संबंधित हों या बातचीत से, उन्हें समय रहते संभाला जा सकता है।
यदि अनजाने में अपने द्वारा की हुई गलती का एहसास व्यक्ति को होता है तो वह उसके लिए दु:खी होता है और मन से क्षमाप्रार्थी भी होता है। ऐसी परिस्थिति में यह जरूरी है कि वह अपनी गलती को मान ले और विनम्रतापूर्वक अपनी गलती के लिए संबंधित व्यक्ति से क्षमा मांग ले। इससे मन अपराधबोध से मुक्त हो जाता है, लेकिन गलती क्यों हुई, इसके कारणों को जानना और जरूरत पड़े तो बताना भी जरूरी होता है।