दंगों के झूठे आरोप लगाने वालेमोदी और देश से माफी मांगें
   Date26-Jun-2022

dc2
2002 के गुजरात दंगों पर अमित शाह का साक्षात्कार, कहा-
नई दिल्ली द्य 25 जून (वा)
केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने शनिवार को कहा कि गुजरात दंगों के संबंध में सुप्रीम कोर्ट के निर्णय से यह स्पष्ट हो गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर राजनीतिक षड्यंत्र के तहत आरोप लगाए गए थे और यह आरोप लगाने वाले लोगों को अब श्री मोदी, देश और भारतीय जनता पार्टी से माफी मांगनी चाहिए।
श्री शाह ने आज अपने एक साक्षात्कार के अंशों को सिलसिलेवार ट्विट में सोशल मीडिया पर साझा करते हुए कहा कि न्यायालय के निर्णय से यह स्पष्ट हो गया है कि यह सभी आरोप राजनीतिक षड्यंत्र के तहत लगाए गए थे और अब आरोप लगाने वाले लोगों को श्री मोदी से माफी मांगनी चाहिए। उन्होंने कहा सुप्रीम कोर्ट के निर्णय से ये फिर एक बार सिद्ध हुआ है कि नरेंद्र मोदीजी पर लगाए गए आरोप एक राजनीतिक षड्यंत्र था। मोदीजी बिना एक शब्द बोले, सभी दुखों को भगवान शंकर के विषपान की तरह 18-19 साल तक सहन करके लड़ते रहे। अब सत्य सोने की तरह चमकता हुआ बाहर आया है, यह गर्व की बात है। हाल ही में कांग्रेस के नेता राहुल गांधी से प्रवर्तन निदेशालय द्वारा की गई पूछताछ के दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा दिए गए धरने और विरोध प्रदर्शनों पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने एक अन्य
ट्विट में कहा लोकतंत्र में संविधान का सम्मान कैसे हो सकता है इसका आदर्श उदाहरण नरेंद्र मोदीजी ने प्रस्तुत किया है। मोदी जी से घंटों पूछताछ हुई लेकिन हमने कोई धरना-प्रदर्शन नहीं किया। झूठे आरोप लगाने वाले लोगों की अगर अंतरात्मा है तो उन्हें मोदीजी, भाजपा और देश से माफी मांगनी चाहिए। मैंने मोदीजी को इन सभी झूठे आरोपों के दर्द को सहन करते हुए बहुत करीब से देखा है। न्यायिक प्रक्रिया चल रही है, इसलिए झूठे आरोपों पर भी कुछ ना बोलना ये स्टैंड देश की न्याय प्रणाली में विश्वास रखने वाला नरेंद्र मोदीजी जैसा कोई मजबूत मन वाला व्यक्ति ही ले सकता था।श्री शाह ने कहा कि देश की जनता ने इन आरोपों को कभी स्वीकार नहीं किया और वह आज भी श्री मोदी के साथ खड़ी है।