जी-7 शिखर बैठक में महत्वपूर्णमुद्दों पर विचार-विमर्श करेंगे
   Date26-Jun-2022

dc4
प्रधानमंत्री 3 दिवसीय जर्मनी की यात्रा पर
नई दिल्ली द्य 25 जून (वा)
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कहा कि वह जर्मनी में जी 7 की शिखर बैठक में पर्यावरण, ऊर्जा, जलवायु, खाद्य सुरक्षा, स्वास्थ्य, आतंकवाद से मुकाबला, लैंगिक समानता और लोकतंत्र जैसे सामयिक मुद्दों पर विचार-विमर्श करेंगे।
श्री मोदी ने 26 से 28 जून तक जर्मनी और संयुक्त अरब अमीरात की यात्रा आरंभ करने से पहले अपने वक्तव्य में कहा, मैं जर्मनी के चांसलर ओलाफ शोल्ज के निमंत्रण पर वहां श्लॉस एल्माउ शहर जा रहा हूं जहां जर्मनी की अध्यक्षता में जी-7 देशों का शिखर सम्मेलन आयोजित किया जा रहा है। यह प्रसन्नता की बात है कि पिछले महीने भारत जर्मनी अंतर सरकारी परामर्श की उत्पादक बैठक के बाद पुन: चांसलर श्री शोल्ज से भेंट होगी। उन्होंने कहा कि मानवता को प्रभावित करने वाले महत्वपूर्ण वैश्विक मुद्दों पर अंतरराष्ट्रीय सहयोग को मजबूत करने के प्रयास में जर्मनी ने जी-7 शिखर-सम्मेलन में अन्य लोकतांत्रिक देशों जैसे अर्जेंटीना, इंडोनेशिया, सेनेगल और दक्षिण अफ्रीका को भी आमंत्रित किया है। प्रधानमंत्री ने कहा शिखर सम्मेलन के सत्रों में, मैं पर्यावरण, ऊर्जा, जलवायु, खाद्य सुरक्षा, स्वास्थ्य, आतंकवाद से मुकाबला, लैंगिक समानता और लोकतंत्र जैसे सामयिक मुद्दों पर जी-7 देशों, जी-7 साझीदार देशों और मेहमान अंतरराष्ट्रीय संगठनों के साथ विचार विमर्श करूंगा।
श्री मोदी ने कहा मैं शिखर-सम्मेलन के इतर कुछ भागीदार जी-7 देशों एवं मेहमान देशों के नेताओं से भी अलग से मिलने के लिए इच्छुक हूं। जर्मनी में, मैं यूरोप के विभिन्न भागों से आने वाले भारतीय समुदाय के लोगों से भी मिलने के लिए उत्सुक हूं जिन्होंने यूरोपीय देशों के साथ हमारे रिश्तों को समृद्ध बनाने और स्थानीय अर्थव्यवस्थाओं में उल्लेखनीय योगदान किया है। उन्होंने कहा कि भारत लौटते समय, 28 जून को, वह थोड़ी देर के लिए संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में आबू धाबी रुकेंगे जहां वह यूएई के राष्ट्रपति एवं आबू धाबी के शासक शेख मोहम्मद बिन ज़ायेद अल नाह्यान से मिलेंगे और यूएई के पूर्व राष्ट्रपति एवं आबू धाबी के पूर्व शासक शेख खलीफा बिन जायेद अल नाह्यान के निधन पर व्यक्तिगत रूप से शोक व्यक्त करेंगे।