अग्निवीरों को 10 फीसदी आरक्षण
   Date19-Jun-2022

rf1
नई दिल्ली द्य 18 जून (ए)
देश की तीनों सेनाओं में भर्ती के लिए लाई गई अग्निपथ योजना के विरोध के बीच रक्षा मंत्रालय ने शनिवार को कई बड़े ऐलान किए। रक्षामंत्री कार्यालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि जो आपेक्षित पात्रता मानदंड को पूरा करेंगे, उन अग्निवीरों के लिए रक्षा मंत्रालय में 10 फीसदी रिक्तियों को आरक्षित किया जाएगा। सरकार ने यह भी साफ किया है कि यह कोटा पूर्व सैनिकों को मिलने वाले कोटे से अलग होगा। वहीं, केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने भी कहा- मैं युवाओं से अपील करता हूं कि हिंसा सही तरीका नहीं है। सरकार आपकी चिंताओं को गंभीरता से सुन रही है। युवा मामले और खेल मंत्रालय भी 4 साल की सेवा के बाद उनके लिए कुछ करने पर विचार कर रहा है। वहीं, नागर विमानन मंत्रालय ने भी कहा कि वह अपनी विभिन्न सेवाओं में अत्यधिक कुशल, अनुशासित और प्रेरित अग्निवीर को शामिल करने के लिए तत्पर है।
पूर्व सैनिकों के कोटे से होगा अलग - आवश्यक आयु में छूट का प्रावधान भी किया जाएगा। भारतीय तटरक्षक बल और डिफेंस सिविल पोस्ट के लिए और रक्षा क्षेत्र की सभी 16 सार्वजनिक उपक्रमों की नौकरियों में 10 फीसदी रिक्तियों को आरक्षित किया जाएगा। सरकार ने यह भी साफ कर दिया है कि यह आरक्षण पूर्व सैनिकों को मिलने वाले कोटे से अलग होगा।
नागर विमानन मंत्रालय - नागर विमानन मंत्रालय ने कहा है कि चार साल की नौकरी पूरी कर चुके अग्निवीरों के लिए एयर ट्रैफिक सर्विसेज और एयरक्राफ्ट टेक्नीशियन सर्विसेज में मौका दिया जाएगा।
साथ ही एयरक्राफ्ट के मेंटेनेंस, रिपेयरिंग और ओवरहॉलिंग से जुड़ी जिम्मेदारी भी यह संभाल सकेंगे। इसके अलावा मीट्रियोलॉजिकल और एयर एक्सीडेंट इन्वेस्टिगेटर सर्विसेज, फ्लाइट सेफ्टी, प्रशासनिक, फाइनेंस, आईटी एंड कम्यूनिकेशन स्टाफ और मिनिस्ट्री के मैनेजमेंट विंग्स में लॉजिस्टिक और सप्लाई चेन की जिम्मेदारी दी जाएगी।