4 साल के लिए सेना में भर्ती किए जाएंगे अग्निवीर
   Date15-Jun-2022

dc5
तीनों सेनाओं में सैनिक भर्ती प्रक्रिया में बड़ा बदलाव : अग्निपथ योजना की घोषणा
नई दिल्ली द्य 14 जून (ए)
सरकार ने तीनों सेनाओं में जवानों की भर्ती प्रक्रिया में बड़ा बदलाव करते हुए एक नई योजना अग्निपथ के जरिए केवल 4 वर्ष के लिए अग्निवीरों की भर्ती करने का निर्णय लिया है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में मंगलवार को यहां हुई केन्द्रीय मंत्रिमंडल की सुरक्षा मामलों की समिति में इस निर्णय को मंजूरी दी गई। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने बाद में एक संवाददाता सम्मेलन में तीनों सेनाओं के प्रमुखों की मौजूदगी में यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि अब तीनों सेनाओं में अग्निपथ योजना के तहत ही जवानों यानी अग्निवीरों की भर्ती की जाएगी। उन्होंने कहा कि इसका उद्देश्य सेनाओं को चुस्त-दुरुस्त, युवा तथा जोश और उत्साह से परिपूर्ण बनाना है। इससे देश की सुरक्षा व्यवस्था तो मजबूत होगी, साथ ही इसके जरिए युवाओं को देशसेवा करने का मौका मिलेगा और उनमें देशप्रेम की भावना भी पैदा होगी।
श्री सिंह ने कहा कि इस योजना से युवाओं के लिए रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे तथा 4 वर्ष के बाद जब ये युवा सेना से बाहर आएंगे तो देश को विभिन्न कौशलों से लैस युवा जनशक्ति भी मिलेगी। उन्होंने कहा कि इन युवाओं को अच्छा वेतन तथा सेना से बाहर आने के बाद अच्छा सेवा निधि पैकेज भी दिया जाएगा। सेना में कार्यरत रहने के दौरान यदि किसी अग्निवीर की मौत हो जाती है तो उसके परिजनों को बीमे के रूप में अच्छी-खासी राशि दी जाएगी। उन्होंने कहा कि यह योजना विदेशों की योजनाओं का अध्ययन कर युवाओं को ध्यान में रखकर बहुत सोच-समझकर तैयार की गई है और इसे किसी की नकल नहीं कहा जा सकता। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि इस योजना को संदेह की दृष्टि से नहीं देखा जाना चाहिए। यह कयास भी नहीं लगाए जाने के लिए सेनाओं में खर्च कम करने तथा बचत के लिए सरकार यह योजना लेकर आई है। उन्होंने कहा कि देश की सुरक्षा के लिए सरकार कितना भी खर्च करने से पीछे नहीं हटेगी।