572 करोड़ से सिंचाई परियोजनाओं की पुनरीक्षित प्रशासकीय स्वीकृति
   Date05-May-2022

yu5
मप्र मंत्रिपरिषद निर्णय : ओंकारेश्वर में आचार्य शंकर की प्रतिमा स्थापना को 148 करोड़ मंजूर
भोपाल द्य 4 मई (ब्यूरो)
मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान की अध्यक्षता में आज मंत्रालय में मंत्रि-परिषद की बैठक में 572 करोड़ 76 लाख रुपए की तीन सिंचाई परियोजनाओं की पुनरीक्षित प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गई। इसमें सोनपुर मध्यम सिंचाई परियोजना सिंचाई क्षमता 7 हजार हेक्टेयर सैंच्य क्षेत्र के लिए लागत राशि 181 करोड़ 80 लाख रुपए, भाम (राजगढ़) मध्यम सिंचाई परियोजना सिंचाई क्षमता 7,900 हेक्टेयर रबी के लिए लागत राशि 301 करोड़ 41 लाख रुपए और सूरजपुरा मध्यम सिंचाई परियोजना लागत राशि 89 करोड़ 55 लाख रुपए वार्षिक सिंचाई क्षमता 4205 हेक्टेयर की पुनरीक्षित प्रशासकीय स्वीकृति दी गई है। मंत्रि-परिषद ने ओंकारेश्वर में आचार्य शंकर की 108 फीट ऊंची बहुधातु प्रतिमा और पेडेस्टल कार्य के लिए 148 करोड़ 43 लाख 2 हजार रुपए की स्वीकृति दी।
मंत्रि-परिषद ने तकनीकी शिक्षा, कौशल विकास एवं रोजगार विभाग द्वारा प्रस्तावित खनन प्रौद्योगिकी संस्थान सिंगरौली के लिए शैक्षणिक पद 33 एवं गैर शिक्षकीय पद 62 इस प्रकार कुल 95 पदों के सृजन एवं अपेक्षित आवर्ती व्यय के वित्तीय प्रावधान की स्वीकृति दी। योजना पर प्रति वर्ष आवर्ती व्यय लगभग 6 करोड़ एवं अनावर्ती व्यय 76 करोड़ 56 लाख रुपए संभावित है।
चिकित्सा महाविद्यालय के लिए पुनरीक्षित प्रशासकीय स्वीकृति - मंत्रि-परिषद ने नेताजी सुभाषचन्द्र बोस चिकित्सा महाविद्यालय, जबलपुर में 150 से 250 एमबीबीएस सीट्स में वृद्धि के लिए स्वीकृत परियोजना अंतर्गत पूर्व में जारी की गई राशि 127 करोड़ 5 लाख रुपए की प्रशासकीय स्वीकृति के स्थान पर राशि 171 करोड़ 39 लाख रुपए की पुनरीक्षित प्रशासकीय स्वीकृति दी।