दिल्ली, मुंबई व उप्र में सफाई अभियान
   Date10-May-2022

tg2
शाहीनबाग में चलेगा बुलडोजर
दखल से सुप्रीम कोर्ट का इनकार
नई दिल्ली द्य 9 मई (ए)
दिल्ली के शाहीनबाग में अतिक्रमण हटाने के लिए बुलडोजर चलने का रास्ता लगभग साफ हो चुका है। क्योंकि उच्चतम न्यायालय ने शाहीनबाग इलाके में अतिक्रमण हटाने के मामले में निर्देश देने संबंधी याचिकाओं पर हस्तक्षेप करने से सोमवार को इनकार कर दिया। सोमवार को इसी के चलते शाहीनबाग में सुबह-सुबह पहुंचे बुलडोजर चले फिर रोक दिए गए । संभवत: मंगलवार से बड़ी कार्रवाई होगी।
शीर्ष अदालत ने माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) और अन्य की ओर से दायर याचिकाओं पर हस्तक्षेप करने से इनकार करते हुए कहा कि किसी भी प्रभावित पक्ष ने अदालत से गुहार नहीं लगाई है और याचिका एक राजनीतिक दल की ओर से दायर की गई है। न्यायमूर्ति एल. नागेश्वर राव और न्यायमूर्ति बीआर गवई की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने याचिकाकर्ताओं से कहा- इस न्यायालय को इस सबके लिए एक मंच न बनाएं।न्यायालय ने कहा- यह बहुत हो गया है। न्यायालय ने इस टिप्पणी के साथ शाहीनबाग और दिल्ली के अन्य हिस्सों में अतिक्रमण विरोधी अभियान के खिलाफ माकपा की याचिका पर विचार करने से इनकार कर दिया। उच्चतम न्यायालय ने ऐसे सभी याचिकाकर्ताओं को राहत के लिए दिल्ली उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाने को कहा। शीर्ष अदालत ने वरिष्ठ वकील पीवी सुरेंद्रनाथ से पूछा- माकपा क्यों याचिका दायर कर रही है? अनुच्छेद 32 के तहत मौलिक अधिकार का उल्लंघन क्या है? इस पर श्री सुरेंद्रनाथ ने जवाब दिया- यह याचिका जनहित में है, न कि कोई पार्टी हित में।