एक बार फिर बेटियों ने बढ़़ाया मान
   Date30-Apr-2022

fg5
खरगोन की हर्षिता पांडे वाणिज्य, शुजालपुर की दिव्यता पटेल
जीव विज्ञान, जावरा की कृपा आत्मजा कृषि समूह में प्रथम
माध्यमिक शिक्षा मंडल के १०वीं एवं १२वीं के परीक्षा परिणाम घोषित, सभी टॉपर बेटियां ही१०वीं में ५९.५४ प्रतिशत तो १२वीं में ७२.७२ प्रतिशत छात्र-छात्राएं उत्तीर्ण, आलीराजपुर जिले में ९३.२४ फीसदी पास
भोपाल द्य २९ अप्रैल (वार्ता)
मध्यप्रदेश में आज स्कूल शिक्षा राज्य मंत्री इंदर सिंह परमार ने १०वीं और १२वीं बोर्ड परीक्षा के परिणाम घोषित किए। इस अवसर पर श्री परमार ने बताया कि इस वर्ष हायर सेकेंडरी स्कूल सर्टिफिकेट परीक्षा परिणाम ७२.७२ फीसदी रहा है। हायर सेकेंडरी परीक्षा परिणाम की प्रावीण्य सूची में ९३ छात्राओं एवं ६० छात्रों (कुल १५३) ने स्थान पाया है। हायर सेकेंडरी में सर्वाधिक उत्तीर्ण प्रतिशत अलीराजपुर जिले का ९३.२४ फीसदी तथा द्वितीय दमोह का ८९.१८ फीसदी रहा है। उन्होंने बताया कि हायर सेकेंडरी स्कूल सर्टिफिकेट परीक्षा में इस वर्ष ७२.७२ फीसदी नियमित परीक्षार्थी, ३२.९० फीसदी स्वाध्यायी परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए हैं। नियमित छात्रों का उत्तीर्ण प्रतिशत ६९.९४ एवं नियमित छात्राओं का उत्तीर्ण प्रतिशत ७५.६४ रहा है।
कक्षा १२वीं का परीक्षा परिणाम- कक्षा १२वीं की परीक्षा १७ फरवरी से १२ मार्च २०२२ तक आयोजित की गई थी। परीक्षा में कुल ६ लाख ९७ हजार ८८० परीक्षार्थी शामिल थे। नियमित परीक्षार्थी ६ लाख २९ हजार ३८१ और स्वाध्यायी परीक्षार्थी ६८ हजार ४९९ थे।
७२.७२ प्रतिशत नियमित परीक्षार्थी और ३२.९० प्रतिशत स्वाध्यायी परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए हैं। नियमित छात्रों का उत्तीर्ण प्रतिशत ६९.९४ एवं नियमित छात्राओं का उत्तीर्ण प्रतिशत ७५.६४ रहा है। शासकीय विद्यालयों का परीक्षाफल ७०.९२ प्रतिशत और अशासकीय विद्यालयों का परीक्षाफल ७६.३० प्रतिशत रहा है। प्रावीण्य सूची में ९३ छात्राओं एवं ६० छात्रों (कुल १५३) ने स्थान पाया हैं। अलीराजपुर जिले में सर्वाधिक ९३.२४ विद्यार्थी उत्तीर्ण हुए हैं। इसके बाद द्वितीय स्थान पर दमोह जिला रहा, वहाँ ८९.१८ प्रतिशत विद्यार्थी उत्तीर्ण हुए।
कक्षा १०वीं का परीक्षा परिणाम - कक्षा १०वीं की परीक्षा १८ फरवरी से १० मार्च २०२२ तक आयोजित की गई थी। परीक्षा में कुल १० लाख २९ हजार ६९८ परीक्षार्थी शामिल हुए थे। नियमित परीक्षार्थी ९ लाख ३१ हजार ८६० और स्वाध्यायी परीक्षार्थी ९७ हजार ८३८ थे। ५९.५४ प्रतिशत नियमित परीक्षार्थी उत्तीर्ण और १९.४९ प्रतिशत स्वाध्यायी परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए हैं। नियमित छात्रों का उत्तीर्ण प्रतिशत ५६.८४ और नियमित छात्राओं का उत्तीर्ण प्रतिशत ६२.४७ रहा। शासकीय विद्यालयों का परीक्षाफल ५५.४० प्रतिशत एवं अशासकीय विद्यालयों का ६९.४८ प्रतिशत रहा है।
१२वीं की पूरक परीक्षा २० जून को - कक्षा १२वीं में इस वर्ष ९६ हजार ७५१ परीक्षार्थियों को पूरक की पात्रता मिली है। पूरक परीक्षा २० जून २०२२ को ली जाएगी। कुल १ लाख १९ हजार ८५१ परीक्षार्थी अनुत्तीर्ण घोषित किए गए है।
चंबल की खुश्बू ने किया संघर्ष तो मिली सफलता - मध्य प्रदेश के चंबल इलाके में बेटों के मुकाबले बेटियों को कम महत्व दिया जाता है। इसके बावजूद यहां से एक बेटी खुशबू ने मध्य प्रदेश की बोर्ड परीक्षा में जबर्दस्त सफलता हासिल की है। खुशबू ने १२वीं कॉमर्स में पूरे प्रदेश में पहला स्थान हासिल किया है। खुशबू के पिता कमल शिवहरे मुरैना स्थित पुरानी हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में रहते हैं। लाइव हिंदुस्तान से बातचीत में खुशबू ने बताया कि एक वक्त ऐसा भी आया था कि जब पैसों की कमी के चलते उसकी पढ़ाई छूटने की नौबत आ गई थी। लेकिन उसने इन हालात में भी संघर्ष करते हुए यह मुकाम हासिल किया।
१०वीं के ९५ टॉपर में ५५ बेटियां - १०वीं की परीक्षा १८ फरवरी से १० मार्च तक हुई। इसमें १० लाख २९ हजार ६९८ स्टूडेंट शामिल हुए। इसमें रेगुलर स्टूडेंट ९ लाख ३१ हजार ८६० थे। रेगुल स्टूडेंट्स का रिजल्ट ५९.५४त्न रहा। इसमें ५६.८४त्न छात्र और ६२.४७ प्रशत्न छात्राएं हैं। ९५ स्टूडेंट स्टेट मेरिट में आए हैं। इसमें ५५ छात्राएं और ४० छात्र हैं। १०वीं की टॉपर दो लड़कियां संयुक्त रूप से रहीं। सरकारी स्कूलों का रिजल्ट प्राइवेट स्कूलों की तुलना में १४.०८ प्रतिशत कम रहा।
१२वीं की मेरिट में १५३ में से ९३ छात्राएं - १२वीं की परीक्षा १७ फरवरी से १२ मार्च तक हुई। इसमें ६ लाख ९७ हजार ८८० स्टूडेंट शामिल हुए। इसमें ६ लाख २९ हजार ३८१ रेगुलर और ६८ हजार ६९९ प्राइवेट स्टूडेंट थे। रेगुलर स्टूडेंट्स का रिजल्ट ७२.७२त्न रहा। ६९.९४त्न छात्र और ७५.६४ प्रतिशत छात्राएं पास हुईं। यानी छात्राएं अव्वल रहीं। मेरिट लिस्ट में कुल १५३ स्टूडेंट शामिल हैं। इनमें ९३ छात्राएं और ६० छात्र हैं। निजी स्कूलों की अपेक्षा सरकारी स्कूलों का रिजल्ट ५.३८ प्रतिशत ही रहा।