हल्के झटके से फिर हिल उठा जबलपुर
   Date02-Nov-2022

rf5
संवाददाता ठ्ठ जबलपुर
शहर मंगलवार की सुबह हल्के भूकंप के झटके के साथ हिल उठा। बहुतों को तो इसका अहसास भी नहीं हुआ। लेकिन जैसे ही इसकी ख़बर सोशल मीडिया में वायरल हुई सभी हतप्रभ हो गए। बताया जा रहा है कि सुबह 8 बजकर 45 मिनट पर भूकंप के सामान्य तीव्रता के झटके महसूस किए गए। यह दायरा सिर्फ जबलपुर शहर तक सीमित नहीं था। बल्कि जबलपुर संभाग के कई जिलों में इसका असर महसूस किया गया।
शहर के साथ-साथ पूरे संभाग में हुआ महसूस
नेशनल सेंटर फॉर सीसमोलॉजी द्वारा भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 4.3 बताई जा रही है। शहर से करीब 35 किमी दूर इसका केंद्र बताया गया है इसका हाइपोसेंटर 10 किमी गहराई पर था। मंगलवार की सुबह 8.43 बजे भूस्थानिक केंद्र 22.73 डिग्री उत्तर अक्षांशए 81.11 डिग्री पूर्व देशांतर डिंडोरी, मध्य प्रदेश में 4.3 तीव्रता का मध्यम भूकंप दर्ज हुआ है। इससे डिंडोरी, जबलपुर, मंडलाए, अनूपपुर, बालाघाट, उमरिया जिले प्रभावित हुए हैं।
1997 की याद फिर हुई ताजा
शहर में मंगलवार सुबह आए भूकंप ने अचानक ही बीते वर्ष 1997 की याद ताजा कर दी। 22 मई 1997 को भूगर्भीय हलचल से आए भूकंप ने काफी दहशत फैलाई थी। जानकार बताते है कि भूकंप की दृष्टि से जबलपुर संवेदनशील माना जाता है। हालांकि 1997 के बाद से आज तक उस तीव्रता का कोई झटका दर्ज नहीं किया गया। लेकिन समय-समय पर बेहद कम तीव्रता का कम्पन्न महसूस होता रहा है। इसी साल 20 जून को भी 3.4 मैग्नीटयूड तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए गए थे।
स्कूलों में कक्षाओं से बाहर निकले बच्चे
मंगलवार सुबह आए भूकंप का असर शहर भर में देखा गया। इस दौरान सुबह लगने वाली स्कूलों की कक्षाएं चालू थी, तभी अचानक जमीन हिलने के अहसास ने सभी को चौका दिया। जैसे ही कंपन की घटना महसूस हुई सभी ने तत्काल बच्चों को स्कूल से बाहर खड़ा कर दिया। हालांकि बेहद कम समय की इस घटना से किसी भी तरह की कोई हानि नहीं हुई। लेकिन घटना ने सभी की घबरा के रख दिया।
किसी प्रकार की जनहानि नहीं
जबलपुर कलेक्टर डॉक्टर इलैयाराजा टी ने कहा कि जबलपुर में 4.5 तीव्रता का भूकंप जरूर आया था। लेकिन किसी भी तरह की जनहानि नहीं हुई है। हालांकि राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान केंद्र के अनुसार इसकी तीव्रता 3.9 रही।