अमेरिका की पहली प्राथमिकता भारत
   Date10-Nov-2022
एजेंसी   नई दिल्ली
कोविड महामारी के बाद तेजी से सामान्य हो रही परिस्थितियों के बाद अमेरिका ने भारत के लिए वीजा आवेदनों को तेजी से निपटाने के लिए विशेष इंतजाम किए हैं और आशा जताई है कि अगले वर्ष गर्मियों तक भारत चीन को पछाड़ कर दूसरा सर्वाधिक अमेरिकी वीजा पाने वाला देश बन जाएगा।
नई दिल्ली स्थित अमेरिकी दूतावास के एक वरिष्ठ अधिकारी ने गुरुवार को यहां कहा कि अमेरिका की सरकार के लिए भारत नंबर एक प्राथमिकता वाला देश है। हम नवंबर मध्य में वीजा स्लॉट खोलने जा रहे हैं और अगले वर्ष 2023 में अमेरिकी मिशन अधिक वीजा आवेदनों का न्यूनतम संभव समय में निस्तारण कर रहा होगा। इसके लिए हम स्थायी एवं अस्थायी काउंसलरों की भर्ती करेंगे और ड्रॉपबॉक्स केसों की संख्या भी बढ़ाएंगे। अधिकारी ने कहा कि अमेरिका ने कुशल एवं तकनीकी कामगारों के लिए एच श्रेणी और प्रबंकीय वर्ग के लिए एल श्रेणी के वीजा के लिए एक लाख नए स्लॉट खोल दिए हैं। हमें आशा है कि भारत अगले वर्ष गर्मियों तक अमेरिकी वीसा पाने वाले देशों की श्रृंखला में चीन को पीछे छोड़ देगा। अमेरिकी वीजा हासिल करने के मामले में भारत, मैक्सिको के बाद नंबर दो देश हो जाएगा। एक सवाल के जवाब में उन्होंने बताया कि भारत को अगले वर्ष कोविड पूर्व की स्थिति की तुलना में कम से कम दस फीसदी अधिक वीजा जारी किए जाएंगे। वीजा जारी करने में होने वाली देरी के कारणों के बारे में पूछे जाने पर अधिकारी ने कहा कि केवल भारत में ही नहीं बल्कि विश्वभर में इस प्रकार का संकट है।
उन्होंने माना कि कोविड भी इस स्थिति के लिए जिम्मेदार है और पर्यटन एवं कारोबारी यात्रा के लिए बी1 और बी2 श्रेणी के वीजा आवेदनों के निस्तारण में बहुत लंबा इंतजार करना पड़ रहा है, लेकिन जल्द ही यह स्थिति ठीक हो जाएगी।