26/11 में जान गंवाने वालों को दी श्रद्धांजलि
   Date20-Oct-2022

er6
स्वससे ठ्ठ मुंबई
संयुक्त राष्ट के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस अपनी तीन दिवसीय भारत यात्रा के पहले दिन बुधवार को मुंबई के ताज होटल पहुंचे। यहां उन्होंने 26/11 के आतंकी हमले में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि दी। इस मौके पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस भी मौजूद थेे। गुटेरेस ने इस मौके पर रूस-यूक्रेन के बीच चल रही जंग पर भी बात की। उन्होंने कहा- मैं चाह कर भी दोनों देशों के बीच चल रहे युद्ध को नहीं रोक सकता, ये हमारी शक्ति से बाहर है। मैं अमेरिका, रूस, यूक्रेन, यूरोप और अन्य देशों की सहायता से ये प्रयास कर सकता हूं कि दोनों देशों के बीच समझौता कराया जा सके।
आतंकवाद किसी स्थिति में सही नहीं ठहराया जा सकता: गुटेरेस ने कहा- आतंकवाद एक बुराई है, जिसे कोई भी कारण या बहाना सही नहीं ठहरा सकता। 26/11 का हमला दुनिया की सबसे बर्बर आतंकी घटनाओं में से एक है। हादसे में जान गंवाने वाले 166 लोगों को मैं ट्रिब्यूट देना चाहता हूं, वे सभी पूरी दुनिया के लिए हीरो हैं। उनके परिवार, दोस्तों और जानने वालों के साथ मेरी सहानुभूति है। गुटेरेस ने 26/11 हमले में बचने वाली देविका से भी मुलाकात की।
देविका छत्रपति शिवाजी एयरपोर्ट पर आतंकियों की गोली से घायल हो गई थीं।
उन्होंने कोर्ट में आतंकी अजमल कसाब की पहचान की थी। उनकी गवाही के आधार पर ही कसाब को सजा सुनाई गई थी।
आतंकवाद खत्म करना पहली प्राथमिकता
गुटेरेस ने कहा कि आतंकवाद को खत्म करना संयुक्त राष्ट्र की प्राथमिकता सूची लिस्ट में सबसे ऊपर है। आतंकवाद से लडऩे के लिए विशेष आतंक विरोधी कार्याल्य की शुरुआत की गई है। इस विशेष कार्यालय के जरिए संयुक्त राष्ट्र अपने सदस्य देशों को आतंकवाद से लडऩे के लिए मदद और आवश्यक प्रशिक्षण उपलब्ध कराएगा। आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई सभी देशों की प्राथमिकता होनी चाहिए।