देश विरोधी गतिविधियों में लिप्त अधिकारी समाज को कर रहे खोखला - तिवारी
   Date17-Oct-2022

ed7
राजलखन सिंह ठ्ठ भोपाल
विश्व हिन्दू परिषद के केन्द्रीय प्रचार प्रसार प्रमुख विजय शंकर तिवारी ने कहा है कि देश के कई राज्यों में कुछ प्रशासनिक व अन्य अधिकारी देश विरोधी गतिविधियों में लिप्त होकर समाज को खोखला कर रहे हैं। ये अधिकारी समाज के लिए नासूर हैं, इन्हें चिन्हित कर सेवा से पृथक करने के साथ ही स त कार्रवाई होनी चाहिए।
प्रतियोगी परीक्षाओं के जरिए अधिकारियों के चयन से पहले उनके परिवेश की पड़ताल होनी चाहिए। जिससे समाज में जहर फैलाने वालों पर अंकुश लगाया जा सके। पिछले दिनों पीएफआई पर प्रतिबंध लगाकर सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। सरकार के कदमों से देश विरोधी गतिविधियों पर अंकुश लगा है। लेकिन इस दिशा में और भी सख्त कदम उठाए जाने की जरूरत है। भोपाल प्रवास पर आए श्री तिवारी ने 'मध्य स्वदेशÓ से विशेष बातचीत में देश के सामने उपस्थित बड़ी चुनौतियों के बारे में कहा कि कई राज्यों में कुछ शीर्ष प्रशासनिक अधिकारी ऐसी गतिविधियों में शामिल हैं, जो कि देश विरोधी हैं। इसमें राज्य सेवा से लेकर केंद्रीय प्रशासनिक सेवा तक के अधिकारियों का होना चिंता की बात है। देश के सामने ये सबसे बड़ा संकट है। ऐसे में अब जरूरत इस बात की है कि देश के विद्वान चिंतन-मंथन करें, अगर संविधान में बदलाव करके इस स्थिति को ठीक किया जा सकता है तो उसे भी करना चाहिए। प्रशासनिक सेवा में चयन के मानक स्तरीय हैं, लेकिन हमारा सुझाव है कि जिसे भी प्रशासनिक सेवा में लिया जा रहा है, उसके बैकग्राउंड की कड़ाई से छानबीन जरूरी है। इसके लिए त्रि-स्तरीय व्यवस्था का फॉर्मूला हो सकता है।