नाटो में शामिल हुआ यूक्रेन तो विश्व युद्ध
   Date14-Oct-2022

fv6
एजेंसी ठ्ठ कीव
रूस और यूक्रेन के बीच पिछले सात महीने से अधिक समय से युद्ध जारी है। क्रीमिया को जोडऩे वाले पुल पर हुए अटैक के बाद रूस ने रणनीति में बदलाव किया है और यूक्रेन पर जबर्दस्त बमबारी की है। उधर, यूक्रेन भी रूस पर कई पलटवार कर चुका है। इस बीच, रशियन सिक्योरिटी काउंसिल के एक अधिकारी ने एक बयान देकर चौंका दिया है। उन्होंने कहा है कि अगर यूक्रेन अमेरिका के नेतृत्व वाले नाटो मिलिट्री अलायंस का हिस्सा बनता है तो फिर यह घटनाक्रम निश्चित तौर पर थर्ड वल्र्ड वॉर की ओर ले जाएगा। रूस की खुली चेतावनी के बाद दुनियाभर में दहशत बढऩा लाजिमी है।
रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन द्वारा 30 सितंबर को औपचारिक रूप से यूक्रेन के 18प्र. तक के कब्जे की घोषणा के कुछ ही घंटों बाद, यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की ने नाटो की फास्ट-ट्रैक सदस्यता पर बात कही। हालांकि, यूक्रेन के लिए पूरी तरह से नाटो की सदस्यता हासिल करना अभी दूर की कौड़ी है, क्योंकि गठबंधन के सभी 30 सदस्यों को अपनी सहमति देनी होगी। टीएएसएस ने रूस की सुरक्षा परिषद के उपसचिव अलेक्जेंडर वेनेडिक्टोव के हवाले से कहा-कीव अच्छी तरह से जानता है कि इस तरह के कदम का मतलब तीसरे विश्व युद्ध की गारंटी होगी।
सभी देशों पर होगा असर, परिणम विनाशकारी होंगे-वेनेडिक्टोव ने कहा कि हमें याद रखना चाहिए कि परमाणु संघर्ष पूरी दुनिया को प्रभावित करेगा- न केवल रूस और सामूहिक पश्चिम, बल्कि इस धरती के सभी देश पर इसका असर होगा। परिणाम सभी मानव जाति के लिए विनाशकारी होंगे। वेनेडिक्टोव, जो सुरक्षा परिषद के सचिव और पुतिन के एक शक्तिशाली सहयोगी, निकोलाई पेत्रुशेव के डिप्टी हैं, ने कहा कि उन्हें लगता है कि यूक्रेन का आवेदन दुष्प्रचार था क्योंकि पश्चिम ने नाटो की यूक्रेनी सदस्यता के परिणामों को समझा।