वैभव, परंपरा और आस्था...
   Date11-Oct-2022

vishesh lekh
अवंतिका अर्थात् देश की धार्मिक, सांस्कृतिक राजधानी उज्जैनी की परंपरा, वैभव और आस्था अपरम्पार है... आज उज्जैन नगरी अपने वैभवशाली गौरव और इतिहास के साथ एक नए अध्याय को जोडऩे जा रही है... भगवान श्रीकृष्ण की शिक्षा स्थली, प्राचीन काल-गणना, ज्योतिष, संस्कृति का केन्द्र, महाकवि कालिदास एवं सम्राट विक्रमादित्य की गौरवशाली नगरी का प्राचीन वैभव अब नए स्वरूप 'श्री महाकाल लोकÓ में अवतरित होने जा रहा है। पौराणिक नगरी उज्जैन के वैभव, परंपराओं, धार्मिक, सांस्कृतिक, ऐतिहासिक महत्व को पूरी तरह ध्यान में रखते हुए राज्य शासन ने श्री महाकाल क्षेत्र के समग्र विकास के लिए प्रभावी विकास योजना बनाई, जो मूर्तरूप ले रही है... प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज गरिमामय समारोह में योजना के प्रथम चरण के कार्यों का लोकार्पण करने उज्जैन आ रहे हैं... मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में सिंहस्थ-2016 में उज्जैन में विश्व स्तरीय अधो-संरचना का विकास किया गया था... अब 'बनारस कॉरिडोरÓ की तर्ज पर महाकाल लोक बनाया गया है... योजना के प्रथम चरण में भगवान श्री महाकालेश्वर के आँगन में छोटे एवं बड़े रूद्र सागर, हरसिद्धि मन्दिर, चार धाम मन्दिर, विक्रम टीला आदि का विकास किया गया है... दूसरे चरण में महाराजवाड़ा परिसर का विकास किया जायेगा, जिसमें ऐतिहासिक महाराजवाड़ा भवन का हैरिटेज के रूप में पुनर्पयोग, कुंभ संग्रहालय के रूप में पुराने अवशेषों का समावेश एवं इस परिसर का महाकाल मन्दिर परिसर से एकीकरण होगा... श्री महाकाल लोक का प्रथम चरण, जिसे तकनीकी रूप से 'मृदा प्रोजेक्ट-1Ó कहा जाता है, पूर्ण हो चुका है। प्रथम चरण के कार्यों के खुलते ही हरि फाटक ब्रिज की चौथी भुजा से आकर श्रद्धालु जैसे ही त्रिवेणी संग्रहालय पहुँचेंगे, उन्हें बाबा श्री महाकाल के अलौकिक दर्शन होंगे... महाकाल थीम पार्क में भगवान श्री महाकालेश्वर की कथाओं से युक्त म्यूरल वॉल, सप्त सागर के लिए डैक एरिया एवं उसके नीचे शॉपिंग और बैठक क्षेत्र सुविधाएँ विकसित की गई हैं... इसी तरह त्रिवेणी संग्रहालय के समीप कार, बस और दोपहिया वाहन की मल्टीलेवल पार्किंग बन चुकी है। इस क्षेत्र में धर्मशाला एवं अन्न क्षेत्र भी बनाये जा रहे हैं... रोड क्रॉसिंग के जरिये पदयात्रियों की कनेक्टिविटी विकसित की गई है... कुल मिलाकर महाकाल लोक के रूप में उज्जैन नगरी को एक नई पहचान एवं आस्था-विश्वास के मान से नया वृहद आयाम मिलने जा रहा है... जय-जय श्री महाकाल...
दृष्टिकोण
आआपा की तुष्टिकरण राजनीति...
आआपा के मंत्री-विधायक और अन्य पदाधिकारी किस तरह से बहुसंख्यक हिन्दुओं और उनसे जुड़ी अनंत आस्थाओं का लगातार अपमान करते हैं, यह अनेक बार प्रमाण के साथ सामने आ चुका है... आआपा का एकतरफा खेल तुष्टिकरण की राजनीति को आगे बढ़ाना रहा है... इसके लिए आआपा और उनके राष्ट्रीय संयोजक केजरीवाल मुस्लिमों को साधने के लिए हिन्दुओं के खिलाफ और उनकी धार्मिक आस्था को ठेस पहुंचाने वालों को लगातार अपना संरक्षण भी देते रहे हैं... कुछ दिनों पहले दिल्ली में हुए एक कार्यक्रम का एक वीडियो प्रसारित हुआ, जिसमें कुछ लोग कथित रूप से शपथ लेते दिखाई देते हैं कि वे हिंदू देवी-देवताओं को नहीं मानेंगे, न उनकी पूजा करेंगे... उस कार्यक्रम के मंच से दिल्ली सरकार के समाज कल्याण मंत्री भी यह शपथ लेते या दिलाते नजर आते हैं... इसे लेकर भाजपा ने आम आदमी पार्टी पर हमला शुरू कर दिया है... गौतम के खिलाफ थाने में शिकायत भी दर्ज कराई गई है... जब यह मामला तूल पकडऩे लगा तो पहले गौतम ने सफाई दी कि वे भगवान बुद्ध के अनुयायी हैं और उनकी आस्था को संवैधानिक रूप से चुनौती नहीं दी जा सकती, भाजपा इसे नाहक तूल दे रही है... फिर उन्होंने कहा कि वे सभी देवी-देवताओं के प्रति सम्मान रखते हैं... दबाव बढऩे पर उन्हें इस्तीफा देना पड़ा... इन दिनों दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार और भाजपा के बीच तनातनी तेज है। दिल्ली सरकार की कथित अनियमितताओं के खिलाफ जांच चल रही है और इस पर अक्सर दोनों पार्टियां एक दूसरे के खिलाफ खड्गहस्त नजर आती हैं... ऐसे में गौतम के बयान ने भाजपा को हमले का एक आसान मौका मुहैया करा दिया है... भाजपा धर्म से जुड़े हर विषय पर आक्रामक रुख अपनाती और उसके जरिए जनाधार मजबूत बनाने का प्रयास करती रही है... गौतम के बयान को लेकर भी वह अब मैदान में है...
लोकप्रिय खबरें
द्दह्वह्म्ह्व द्दशष्द्धड्डह्म् द्बठ्ठ श्चद्बह्यष्द्गह्य, द्दह्वह्म्ह्व द्वड्डह्म्द्दद्ब द्बठ्ठ द्वद्गद्गठ्ठ
देवताओं के गुरु मार्गी होकर बनाएंगे 'केंद्र त्रिकोण राजयोगÓ, इन 3 राशि वालों को धनलाभ के साथ भाग्योदय के प्रबल योग
ह्यद्धड्डठ्ठद्ब द्वड्डह्म्द्दद्ब द्बठ्ठ शष्ह्लश1द्गह्म्, ह्यद्धड्डठ्ठद्ब ह्लह्म्ड्डठ्ठह्यद्बह्ल द्बठ्ठ द्भह्वद्य4
23 अक्टूबर से चमक सकती है इन 3 राशि वालों की किस्मत, शनि देव मार्गी होकर बना रहे महापुरुष राजयोग
1द्गठ्ठह्वह्य श्चद्यड्डठ्ठद्गह्ल ह्लह्म्ड्डठ्ठह्यद्बह्ल, ह्यद्धह्वद्मह्म्ड्ड द्दशष्द्धड्डह्म् द्बठ्ठ शष्ह्लशड्ढद्गह्म्
वैभव के दाता शुक्र ग्रह करेंगे अपनी प्रिय राशि तुला में प्रवेश, इन 3 राशि वालों को धनलाभ और तरक्की के प्रबल योग
स्द्धड्डठ्ठद्ब रूड्डह्म्द्दद्ब ह्रष्ह्लशड्ढद्गह्म् 2022, स्द्धड्डठ्ठद्ब रूड्डह्म्द्दद्ब 2022, धर्म की खबरें
धनतरेस पर शनि देव होने जा रहे हैं मार्गी, इन राशियों के शुरू होंगे अच्छे दिन, हर कार्य में सफलता के योग
स्वाभाविक ही इस मामले में आम आदमी पार्टी को पलट कर हमला करते नहीं बन रहा है। इस समय पूरे देश में धर्म एक संवेदनशील मसला बना हुआ है। उस पर कोई भी रुख सोच-समझ कर लेना पड़ता है। मगर गौतम ने इस पर विचार नहीं किया कि उनके विचारों से भाजपा को कितना लाभ मिल सकता है। बताया जा रहा है कि उनसे दिल्ली के मुख्यमंत्री और पार्टी प्रमुख अरविंद केजरीवाल नाराज हैं।
मगर हैरानी की बात है कि उन्होंने अब तक न तो गौतम के खिलाफ कोई कार्रवाई की, न उन्हें कोई नसीहत दी और न ही भाजपा के हमलों पर बचाव किया है। जिम्मेदार पदों का निर्वाह कर रहे लोगों से स्वाभाविक अपेक्षा रहती है कि वे सार्वजनिक जीवन में संतुलित और मर्यादित आचरण करें। बेशक बौद्ध धर्म और भीमराव आंबेडकर के विचारों का पालन करने वाले लोग हिंदू देवी-देवताओं में विश्वास न करते हों, पर यह उनकी निजी आस्था तो हो सकती है, इस आधार पर उन्हें सार्वजनिक रूप से किसी की आस्था को चोट पहुंचाने का अधिकार नहीं मिल जाता।
हालांकि जिस कार्यक्रम का वीडियो प्रसारित हो रहा है, वह बौद्ध धर्म से जुड़े लोगों का कार्यक्रम था और उसमें बौद्ध धर्म ग्रहण करने वालों को शपथ दिलाई गई थी। इसलिए वे तर्क दे सकते हैं कि उनका इरादा दूसरे धर्म को आहत करने का नहीं था। मगर उस कार्यक्रम में गौतम चूंकि एक मंत्री की हैसियत से उपस्थित थे, इसलिए उनसे मर्यादा पालन की अपेक्षा थी।