kabul
   Date06-Sep-2021

sd5_1  H x W: 0
काबुल ठ्ठ 5 सितम्बर (ए)
अमेरिकी सेना के अफगानिस्तान छोडऩे के बाद भी करीब 100 से 200 अमेरिकी पासपोर्ट धारक वहां छूट गए हैं। तालिबान के लड़ाके इन अमेरिकियों को घर-घर तलाश कर मौत के घाट उतार रहे हैं। रेस्क्यू ऑपरेशन खत्म होने के बाद अफगानिस्तान में छूट गई एक अमेरिकी महिला ने ये बात मीडिया ग्रुप वॉइस ऑफ अमेरिका को बताई है।25 साल की नसिरा अमेरिका के कैलिफोर्निया की रहने वाली हैं। उनके पास अमेरिकी पासपोर्ट है। नसिरा जून 2020 में परिवार से मिलने और शादी करने अफगानिस्तान गई थीं। इस समय वे गर्भवती हैं। नसिरा समझ नहीं पा रही हैं कि अब उनके साथ क्या होगा? क्या वे कभी कैलिफोर्निया जा पाएंगी या उन्हें जिंदगीभर अफगानिस्तान में ही रहना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि वे यह तक नहीं जानतीं कि कब तक जिंदा रहेंगी?
अफगानिस्तान के मौजूदा हालात को देखते हुए अमेरिकी सेना के जनरल मार्क मिल्ले ने कहा है कि अफगानिस्तान में गृह युद्ध छिड़ सकता है और आतंकी संगठन फिर से सिर उठा सकते हैं। अलकायदा फिर से संगठित हो सकता है, आईएसआईएस और दूसरे आतंकी संगठनों की गतिविधियां भी बढ़ सकती हैं।
पंजशीर में तालिबान का साथ दे रही पाकिस्तानी फौज-मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पंजशीर में जारी जंग में पाकिस्तान के सैनिक तालिबान का साथ दे रहे हैं। बताया जा रहा है कि पंजशीर में मारे गए एक पाकिस्तानी सैनिक का आई-कार्ड भी मिला है। बता दें पाकिस्तान पर तालिबान की मदद करने और उसे बढ़ावा देने के आरोप काफी समय से लगते रहे हैं और अफगानिस्तान पर तालिबानी कब्जे के पीछे भी पाकिस्तान का हाथ होना बताया जा रहा है।