dhar
   Date27-Sep-2021

ty3_1  H x W: 0
रविवार ठ्ठ 26 सितम्बर (स्वदेश समाचार)
मप्र के 23 जिलों में पिछले 24 घंटे में तेज बारिश हुई। खंडवा में सबसे ज्यादा 4 इंच बारिश दर्ज की गई। वहीं, इंदौर-छिंदवाड़ा और सिवनी में 2 इंच पानी बरसा। गुना, भोपाल समेत प्रदेश के कई हिस्सों में रविवार सुबह से तेज बारिश शुरू हो गई। मौसम केंद्र, भोपाल ने अगले 24 घंटे में 19 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। इन जिलों में 2.5 से 4.5 इंच तक बारिश हो सकती है। इधर, भोपाल में सुबह से रुक-रुककर तेज और रिमझिम बारिश जारी है।
मंदसौर में रेतम बैराज के 24 गेट खोले-मंदसौर में शनिवार शाम को झमाझम बारिश हुई। पिछले 24 घंटों में यहां मल्हारगढ़़ क्षेत्र में 2 इंच से अधिक बारिश दर्ज की गई। इसके चलते यहां काका गाडगिल सागर बांध के 8 गेट तो रेतम बैराज बांध के 24 गेट खोलने पड़े।
वहीं, शिवना नदी पर बने अटल सागर बांध के 3 गेट खोले गए। इससे पशुपतिनाथ मंदिर के निकट बने छोटे पुल से 4 फीट ऊपर तक पानी बहता रहा। वहीं, गांधीसागर बांध का जलस्तर बढ़कर 1307.90 फीट तक पहुंच गया है।
तवा डैम के गेट दूसरी बार खुले
होशंगाबाद के तवा डैम के पांच गेट खोलकर पानी छोड़ा जा रहा है। तवा डैम के कैचमेंट एरिया बैतूल, पचमढ़ी में अच्छी बारिश और सतपुड़ा डैम से छोड़े गए पानी से तवा बांध के जलस्तर में बढ़ोतरी बनी हुई है। इससे शनिवार रात 9 बजे 5 गेट को 5-5 फीट खोले गए। यहां से 44065 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। डैम के गेट से निकलते इस खूबसूरत नजारे को देखने रविवार को बड़ी संख्या में सैलानी पहुंच रहे हैं। एहतियात को लेकर तवानगर के अलावा केसला, पथरौटा की पुलिस भी सुबह से ड्यूटी लगाई गई है।
अक्टूबर के पहले सप्ताह तक हल्की-मध्यम वर्षा
मौसम वैज्ञानिकों की मानें तो 27 सितम्बर से कम दबाव का नया सिस्टम बन रहा है। इसके चलते प्रदेशभर में अक्टूबर के पहले सप्ताह तक हल्की व मध्यम बारिश होगी, लेकिन इससे पहले एक्टिव मानसून की वजह से प्रदेशभर में बारिश हो रही है। अशोकनगर और सीधी में बिजली गिरने से दो लोगों की मौत हो गई, जबकि छह लोग झुलस गए।