bhopal
   Date21-Sep-2021

ws7_1  H x W: 0
भोपाल ठ्ठ 20 सितम्बर (ब्यूरो)
मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने आज कहा कि भ्रष्टाचार के मामले में जीरो टॉरलेंस हमारी नीति है। गड़बड़ करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। प्रदेश को जनकल्याण और सुराज के मामले में एक मॉडल बनाकर खड़ा करना है।
श्री चौहान ने यहां प्रदेश के समस्त कलेक्टर्स, कमिश्नर्स, एसपी एवं आईजी के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान यह बात कही। उन्होंने इस दौरान कानून व्यवस्था और अन्य महत्वपूर्ण योजनाओं की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि जो बड़े कब्जेधारी हैं, जो ऑर्गनाइज तरीके से कब्जे कर रहे हैं, उन पर कार्रवाई और एफआईआर करनी है। उन्होंने कहा कि जमीनों को मुक्त करके भूलना नहीं है, बल्कि शहरी आबादी वाली मुक्त जमीनों पर प्रधानमंत्री आवास गरीबों के लिए बनाए जाएं। उन्होंने कहा कि माफियाओं को किसी भी कीमत पर छोडऩा नहीं है।
हमें डेंगू पर भी नियंत्रण पाना है
मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें डेंगू पर भी नियंत्रण पाना है। सभी सावधानियों का पालन करें। पानी को कहीं रुकने न दें और स्वच्छता रखें, ऐसी जागरुकता हमें फैलानी है। शहडोल जिले में कुल 52 प्रकरणों में अतिक्रमणकर्ताओं के विरुद्ध कार्रवाई करते हुए 45.27 करोड़ रुपए की शासकीय जमीन मुक्त कराई गई। सतना जिले में चिन्हित भू-माफिया/गुंडा यज्ञदत्त शर्मा के विरुद्ध गत चार जून को जिलाबदर का आदेश पारित किया गया है।
भू-माफिया के विरुद्ध प्रभावी कार्रवाई की
उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में भू-माफिया के विरुद्ध प्रभावी कार्रवाई की गई है। उज्जैन जिले में हरी फाटक ब्रिज के समीप 2 हेक्टेयर शासकीय जमीन पर बनी 213 दुकानें जमींदोज कर 107 करोड़ रुपए की शासकीय भूमि अतिक्रमण से मुक्त कराई गई। उन्होंने अधिकारियों को कानून व्यवस्था के संबंध में निर्देश देते हुए कहा कि आगामी उपचुनावों और त्योहारों में सुरक्षा व्यवस्था सुदृढ़ रहे।
कोविड 19 गाइडलाइंस का पालन कराया जाए। मुख्यमंत्री ने महिला अपराधों को रोकने के लिए और संवेदनशील होने के निर्देश दिए।
श्री चौहान ने कहा कि जनजातीय भाई-बहनों के लिए राशन आपके द्वार, पेसा कानून के अंतर्गत वनों का प्रबंधन और अनेक हितकारी योजनाएं हैं, इनका क्रियान्वयन ठीक से होना चाहिए। उन्होंने कहा कि गरीब का हक नहीं मारा जाना चाहिए, यह हमें सुनिश्चित करना होगा। उन्होंने यह भी कहा कि 27 सितम्बर को पहले डोज़ का 100 प्रतिशत वैक्सीनेशन का लक्ष्य हमें पूर्ण करना है। दिसम्बर माह तक हमें दोनों डोज़ का 100 प्रतिशत वैक्सीनेशन पूर्ण करना है। जो बच गए हों, उनकी सूची बना लें और उनको टीका लगवाएं।