दलित नेताओं से अधिक दलित उत्थान मोदी ने किया-नड्डा
   Date05-Aug-2021

rf4_1  H x W: 0
नई दिल्ली ठ्ठ 4 अगस्त (ए)
भाजपा के अध्यक्ष जगतप्रकाश नड्डा ने आज कहा कि आजादी के बाद देश में दलितों के उत्थान के लिए दलित नेताओं से ज्यादा काम प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने किया है। श्री नड्डा ने यहां केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार में शामिल दलित समुदायों से आने वाले 12 मंत्रियों के अभिनंदन समारोह को संबोधित करते हुए यह बात कही।
उन्होंने कहा- आजादी के पश्चात बहुत किस्म से, बहुत से शब्दों में बहुत नेता हुए। कोई दलित नेता के नाम से जाना गया, कोई आदिवासी नेता के नाम से, कोई किसान नेता के नाम से जाना गया और कोई पिछड़े वर्ग के नेता के नाम से जाना गया। सभी लोगों ने अपनी छवि को उस नाम के साथ जोड़ते हुए जीवन में नेतृत्व किया, लेकिन किसान नेता कहलाने वाले से ज्यादा काम हमारे प्रधानमंत्री ने किया। दलित नेता के रूप में जाने गए नेताओं से भी ज्यादा काम दलित वर्ग के लिए श्री मोदी ने किया।
भाजपा अध्यक्ष ने कहा- हमें बड़ी खुशी है कि हमारे कार्यकर्ता आज देश के राष्ट्रपति पद को सुशोभित कर रहे हैं। हमें बड़ी खुशी है कि अनुसूचित जाति से संबंध रखने वाले चार लोग आज राज्यपाल पद को सुशोभित कर रहे हैं। जो नीतियां प्रधानमंत्री ने सबके लिए शुरू की हैं, उसमें भी सबसे ज्यादा लाभ अनुसूचित जाति के वर्ग को मिल रहा है।
योंकि वो पिछड़ रहे थे, उन्हें साथ जोडऩे का काम प्रधानमंत्री ने किया है। श्री नड्डा ने कहा कि संविधान दिवस मनाने की शुरुआत मोदी सरकार ने की। पंच तीर्थ को विकसित करने का काम मोदी सरकार ने किया। समारोह में सर्वश्री वीरेन्द्र कुमार, भानु प्रताप वर्मा, कौशल किशोर, सत्यपाल सिंह बघेल आदि शामिल थे।
समरसता दिवस मनाने का काम मोदी सरकार ने किया
श्री नड्डा कहा कि हमारे 12 मंत्री अनुसूचित जाति से बने हैं। इतनी बड़ी संख्या में केंद्रीय मंत्रिमंडल में इस वर्ग से मंत्री बनें हैं, तो वो श्री मोदी के नेतृत्व में बनें हैं। अनुसूचित जाति के विकास के लिए, उनकी पढ़ाई के लिए, उनको मुख्यधारा में लाने के लिए मोदी सरकार ने विशेष योजनाओं पर काम किया है। 2015 में समरसता दिवस मनाने का काम मोदी सरकार ने किया।