पूरे देश ने गर्व से कहा लव लीना
   Date05-Aug-2021

rf2_1  H x W: 0
टोक्यो ओलंपिक
भारत को तीसरा पदक
टोक्यो ठ्ठ बुधवार को टोक्यो ओलंपिक में भारत के लिए मिलाजुला दिन रहा। भारतीय मुक्केबाजी लवलीना बोरगोहेन को टॉप सीड और विश्व नंबर एक मुक्केबाज तुर्की की बुसनेज सुरमेनेली से हारने के बाद महिला वेल्टरवेट (64-69 किग्रा) के फाइनल में जाने का सपना टूट गया। तीसरे नंबर पर रहने से उन्हें कांस्य पदक से ही संतोष करना पड़ा। भारत के कुश्ती गुरु द्रोणाचार्य अवार्डी महाबली सतपाल के शिष्य पहलवान रवि कुमार दहिया और दीपक पुनिया ने कुश्ती मुकाबलों के क्रमश: पुरुष फ्रीस्टाइल 57 किग्रा और 86 किग्रा वर्गों के फाइनल और कांस्य पदक मुकाबले में जगह बना ली। देश के स्टार एथलीट नीरज चोपड़ा ने जैवलीन थ्रो के फाइनल में जगह बना ली है। वहीं महिला हॉकी में भारत को अर्जेन्टीना से हार मिली।
मुकाबले में बुसनेज ने शुरुआत से ही लवलीना पर दबाव बनाया, लवलीना ने हालांकि कुछ पंच लगाए, लेकिन बुसनेज तीनों राउंड में उन पर हावी रहीं और सर्वसम्मत फैसले से लवलीना को 5-0 से हरा दिया। बुसनेज अब शनिवार को स्वर्ण पदक मैच में चीन की गु होंग से भिड़ेंगी। उल्लेखनीय है कि लवलीना टोक्यो ओलंपिक 2020 में भारत के लिए पदक जीतने वाली तीसरी महिला एथलीट बनी हैं। उनसे पहले मीराबाई चानू ने भारोत्तोलन में रजत और पीवी सिंधू ने बैडमिंटन में कांस्य पदक जीता है।
हॉकी में हार, अब कांसे की उम्मीद-भारतीय महिला हॉकी टीम अर्जेंटीना के खिलाफ बढ़त बनाने के बावजूद सेमीफाइनल में बुधवार को 1-2 से हार गई और अब वह कांस्य पदक के लिए ग्रेट ब्रिटेन की टीम से खेलेगी। भारत ने मैच की शुरुआत में गुरजीत कौर के पेनल्टी कॉर्नर पर किए गए गोल से बढ़त बनाई जबकि अर्जेंटीना ने वापसी करते दो गोल दागकर भारतीय टीम का फाइनल में पहुंचने का सपना तोड़ दिया। भारतीय पुरुष टीम को भी सेमीफाइनल में बेल्जियम के हाथों 2-5 से हार का सामना करना पड़ा था।