ग्वालियर-चंबल में बारिश का कहर
   Date05-Aug-2021

rf1_1  H x W: 0
सिंध का रौद्र रूप, अंचल में तबाही, ५ पुल टूटे
भिंड/दतिया ठ्ठ 4 अगस्त (ब्यूरो)
सिंध नदी ने ग्वालियर-चंबल अंचल में तबाही मचा दी है। पहली बार सिंध नदी का ऐसा रौद्र रूप लोगों ने देखा है। बुधवार सुबह दतिया जिले में सिंध नदी पर बने सेंवढ़ा और भिंड का इंदुर्खी पुल बह गए। इसके बाद दोपहर में शिवपुरी जिले में नरवर-ग्वालियर को जोडऩे वाला मगरौनी पुल का काफी हिस्सा नदी में बह गया। कल सिंध नदी के बहाव में रतनगढ़ वाली माता और लांच-पिछोर का पुल भी बह गया था। अब दतिया जिले के गोराघाट, भिंड के मेंहदा घाट का पुल भी खतरे में हैं। दोनों पुलों पर पानी आ गया है। ककेटो और मड़ीखेड़ा बांध से पानी छोड़े जाने के बाद मंगलवार की दोपहर से लगातार सिंध नदी में पानी बढ़ रहा है। सिंध नदी के उफान पर आने से अब तक दतिया जिले के 3 और भिंड- शिवपुरी जिले में एक- एक पुल टूट चुके हैं। सिंध नदी पर ही मड़ीखेड़ा डैम के नीचे के पुल पर दरार आ गई है।
सिंध और चंबल नदी के किनारे के पर्रायच, इंदुर्खी, गिरवासा, रेंमजा, महायर गांवों को खाली कराया जा रहा है। दतिया जिले के सेंवढ़ा नगर में निचली बस्ती को खाली कराया जा चुका है। वहीं चंबल किनारे के अटेर, चौम्हो, नावली वृंदावन, खैरहट गांव में पानी आ गया है। मुशावली गांव से एक बुजुर्ग को रेस्क्यू किया गया है। इसके अलावा भारौली पुलिस ने बाढ़ में फंसे एक परिवार को सुरक्षित निकाला है।