ऑटो सेक्टर को नई पहचान मिलेगी
   Date14-Aug-2021

rf2_1  H x W: 0
नई दिल्ली ठ्ठ 13 अगस्त (ए)
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज कहा कि राष्ट्रीय वाहन स्क्रेपिंग नीति आत्मनिर्भर भारत के लक्ष्यों को पूरा करने की दिशा में एक अहम कदम है और इससे ऑटो सेक्टर को नई पहचान मिलेगी।
श्री मोदी ने गुजरात में केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राष्ट्रीय राजमार्ग मंत्रालय तथा गुजरात सरकार द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित निवेशक सम्मेलन में वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से शिरकत करते हुए कहा 75वें स्वतंत्रता दिवस से पहले आज का ये कार्यक्रम, आत्मनिर्भर भारत के बड़े लक्ष्यों को सिद्ध करने की दिशा में एक और अहम कदम है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय वाहन स्क्रेपिंग नीति नए भारत में ऑटो सेक्टर को नई पहचान देने वाली है।
देश में वाहनों से होने वाले प्रदूषण पर अंकुश लगाने , अनफिट वाहनों को वैज्ञानिक ढंग से सड़कों से हटाने में यह नीति बहुत बड़ी भूमिका निभाएगी। देश के करीब-करीब हर नागरिक के जीवन , हर उद्योग और हर क्षेत्र में इससे सकारात्मक परिवर्तन आएगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि अर्थव्यवस्था के लिए मोबिलीटी बहुत बड़ा फैक्टर है। इस क्षेत्र में आधुनिकता सेे परिवहन का बोझ तो कम होगा ही आर्थिक विकास के लिए भी मददगार यह साबित होती है। उन्होंने कहा कि 21वीं सदी के भारत के लिए यह नीति समय की मांग है। उन्होंने कहा कि गुजरात को स्क्रेपिंग नीति से जो लाभ हुआ है वह सबके सामने है और अलंग को पुराने जहाज तोड़े जाने के मामले में दुनियाभर में जाना जाता है। अब वाहनों की स्क्रेपिंग के मामले में भी यह नया केन्द्र बन सकता है। उन्होंने कहा कि इस नीति पूरे देश में स्क्रेप से जुड़े सेक्टर को नई ऊर्जा मिलेगी तथा नई सुरक्षा मिलेगी। विशेष रूप से इससे जुड़े हमारे कारोबारियों के जीवन में बहुत बड़ा बदलाव आएगा।