बड़ों से ज्यादा मजबूत बच्चे
   Date21-Jul-2021

dc1_1  H x W: 0
कोरोना पर आईसीएमआर की चौथी सीरो-सर्वे रिपोर्ट
नई दिल्ली द्य 20 जुलाई (ए)
इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) ने मंगलवार को 21 राज्यों के 70 जिलों में जून-जुलाई महीने में किए गए चौथे सीरो-सर्वे की रिपोर्ट जारी की। रिपोर्ट के मुताबिक देश की 67 फीसदी आबादी में एंटीबॉडी डेवलप हुई है। यानी ये आबादी संक्रमित हो चुकी है और वायरस को बेअसर करने के लिए इन लोगों के शरीर में जरूरी एंटीबॉडी डेवलप हो चुकी है। अच्छी बात ये है कि इनमें बड़ी संख्या में बच्चे भी शामिल हैं। इसके साथ ही स्कूल खोले जाने के सवाल पर आईसीएमआर के डायरेक्टर जनरल डॉ. बलराम भार्गव ने कहा कि स्कूल खोले जा सकते हैं, क्योंकि छोटे बच्चों में एडल्ट की तुलना में संक्रमण का खतरा कम है। यूरोप के कई देशों में कोरोना के बढ़ते मामलों के बावजूद भी स्कूल खोले गए हैं।
85 फीसदी हेल्थ केयर वर्कर हुए संक्रमित
श्री भार्गव ने बताया कि 85 प्र. हेल्थ केयर वर्कर कोविड के शिकार हो चुके हैं। देश में कोरोना के मामले घटने और टीकाकरण के बावजूद उन्होंने अब भी लोगों को कोविड एप्रोप्रिएट बिहेवियर को अपनाने को कहा है। गैर-जरूरी यात्रा करने से बचने की सलाह देते हुए उन्होंने कहा कि वही लोग यात्रा करें, जो वैक्सीन के दोनों डोज ले चुके हैं।
एंटीबॉडी को लेकर रिपोर्ट अच्छी
सर्वे में शामिल 12,607 लोग ऐसे थे, जिन्होंने वैक्सीन नहीं ली थी। 5,038 ऐसे थे, जिन्हें एक डोज लगी थी और 2,631 को दोनों डोज लग चुकी थी। सर्वे में दोनों डोज लेने वाले 89.8 प्र. में एंटीबॉडी पाई गई। वहीं, एक डोज लेने वाले 81 प्र. में एंटीबॉडी मिली, जबकि जिन्होंने वैक्सीन नहीं ली थी, ऐसे 62.3 प्र. लोगों में ही एंटीबॉडी मिली।