विश्वकप विजेता टीम के सदस्य यशपाल का हृदयाघात से निधन
   Date14-Jul-2021

gh8_1  H x W: 0
नई दिल्ली ठ्ठ पूर्व भारतीय क्रिकेटर और 1983 में कपिल देव की कप्तानी में पहली बार विश्वकप जीतने वाली टीम के सदस्य यशपाल शर्मा का मंगलवार को दिल का दौरा पडऩे से निधन हो गया। वह 66 वर्ष के थे। यशपाल के परिवार में पत्नी, दो बेटियां और एक बेटा है। यशपाल ने भारत की 1983 में विश्वकप की ऐतिहासिक जीत में अहम भूमिका निभाई थी। उन्होंने 34.28 के औसत से 240 रन बनाये थ। भारत के लिए 37 टेस्ट मैच तथा 42 एकदिवसीय क्रिकेट मैच खेलने वाले यशपाल शर्मा इंग्लैंड में खेले गए 1983 के विश्वकप में भारतीय टीम की जीत में भी नायक की भूमिका में थे। इस विश्वकप में वेस्टइंडीज के खिलाफ 89 और इंग्लैंड के खिलाफ सेमीफाइनल मैच में उनकी 61 रन की पारी भारत की खिताबी जीत की नींव थी। फिल्म स्टार दिलीप कुमार के बड़े फैन यशपाल शर्मा ने उनके निधन के छह दिन बाद ही दुनिया छोड़ दी।
क्रिकेट को कम समय दे पाने के कारण यशपाल शर्मा ने स्टेट बैंक में चीफ मैनेजर का पद छोड़ दिया था। उनको भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने 2003 से 2006 तक सीनियर टीम का चयनकर्ता भी बनाया था, इसके बाद वह 2008 में फिर से राष्ट्रीय चयनकर्ता बने। इसके बाद उन्होंने उत्तरप्रदेश रणजी टीम के कोच के रूप में कार्य किया था। लुधियाना में जन्मे यशपाल शर्मा अब परिवार सहित दिल्ली में थे।