2022 तक 4 हजार महिलाओं को मिलेगा रोजगार- शिवराज
   Date12-Jul-2021

rf2_1  H x W: 0
मुख्यमंत्री चौहान ने उज्जैन में अत्याधुनिक वस्त्र इकाई का भूमिपूजन किया
उज्जैन ठ्ठ 11 जुलाई (स्वदेश समाचार)
मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा है कि आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश बनाने के लिए रोजगार संवर्धन आवश्यक है। आज भगवान महाकाल की नगरी में नव-उद्योग का सूर्योदय हो रहा है। अब यहां निरंतर औद्योगिक विकास होता रहेगा। मध्यप्रदेश सरकार स्थानीय लोगों को रोजगार दिलाने के लिए कटिबद्ध है। उन्होंने जनता से अपील की कि औद्योगिक वातावरण को अच्छा बनाये रखने के लिए उद्योगपतियों का सहयोग करें।
मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि आज उज्जैन में 60 करोड़ रुपए के निवेश से जो वस्त्र इकाई स्थापित हो रही है, वह तमिलनाडु के त्रिपुर से आ रही है, जो टेक्सटाइस का हब है। यह प्रयास उन्होंने 4 वर्ष पहले प्रारंभ किया था, जब वे त्रिपुर गए थे, जो आज सफल हुआ है। यह प्लांट 2022 तक अपना कार्य प्रारंभ कर देगा। उज्जैन में आने वाले उद्योगों से 4 हजार महिलाओं को प्रत्यक्ष रोजगार मिलेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज उज्जैन में सोयाबीन प्लांट की भूमि पर तमिलनाडु की बेस्ट कॉर्पोरेशन द्वारा स्थापित की जाने वाली अत्याधुनिक वस्त्र इकाई का भूमिपूजन किया।
उद्योगों के नए युग का सूत्रपात होने जा रहा है-मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि बेस्ट कॉर्पोरेशन द्वारा 150 एकड़ जमीन और चाही गई है, जिससे वे यहां एक नया प्लांट और डालेंगे। इस मामले में देरी नहीं करते हुए तुरंत कंपनी को जमीन दी जाएगी। बाबा महाकाल की नगरी में अगले माह प्रतिभा सिंटेक्स द्वारा अपने प्लांट का भूमि पूजन किया जाएगा। इसी तरह विक्रम उद्योगपुरी में कर्नाटका एंटीबायोटिक्स, सांई मशीन्स, अमूल एवं श्रीनिवास सहित अन्य कंपनियों द्वारा 1017 करोड़ रुपए के निवेश के प्रस्ताव प्राप्त हुए हैं। इन सभी से चार हजार लोगों को प्रत्यक्ष रोजगार से जोड़ा जा सकेगा। यही नहीं, नागदा में ग्रेसिम द्वारा तीन हजार करोड़ का निवेश विभिन्न चरणों में किया जाएगा। उज्जैन जिले में उद्योग के एक नए युग का प्रारम्भ होने जा रहा है।
उज्जैन के इतिहास में नए युग की शुरुआत-कार्यक्रम में उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव ने कहा कि आज का दिन उज्जैन के इतिहास में नए युग की शुरुआत है। वस्त्र उद्योगों की स्थापना से चार हजार महिलाओं को सीधे रोजगार मिलेगा। यही नहीं, महिलाओं का चयन कर ढाई-ढाई सौ के बैच में ट्रेनिंग देना अभी से शुरू किया जाएगा। उद्योग के लिए जमीन पर्याप्त मिल रही है और औद्योगिक विकास निगम और उद्योग विभाग द्वारा उद्योगपतियों का पूरा सहयोग किया जा रहा है। जिस तरह से निवेशक उज्जैन के प्रति आकृष्ट हो रहे हैं, इससे यहां उद्योगों की एक माला तैयार हो जाएगी।
नए उद्योगों का मार्ग प्रशस्त होगा-वित्त मंत्री एवं उज्जैन जिले के प्रभारी मंत्री जगदीश देवड़ा ने कहा कि आज उज्जैन के लिए बहुत ही खुशी का दिन है। उन्होंने उद्योग स्थापित कर रहे उद्योगपति व उनकी टीम को बधाई दी। श्री देवड़ा ने कहा कि आत्मनिर्भरता की दिशा में प्रदेश निरंतर आगे बढ़ रहा है। मुख्यमंत्री श्री चौहान के नेतृत्व में हम निरंतर विकास के पथ पर आगे बढ़ेंगे। मुख्यमंत्री निरंतर यह सोचते रहते हैं कि प्रदेश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए क्या किया जाए। इसी दिशा में आज उज्जैन में औद्योगिक विकास के लिए किया गया कार्य नए उद्योगों का मार्ग प्रशस्त करेगा।
पर्यावरण फ्रेंडली है यह प्रोजेक्ट-औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन मंत्री राजवर्धनसिंह दत्तीगांव ने कहा कि उज्जैन में शुरू हो रही यूनिट से बड़ी संख्या में रोजगार मिलेगा। उज्जैन में लगने वाला प्रोजेक्ट पर्यावरण फ्रेंडली है। यह प्रोडक्शन यूनिट अन्य टेक्सटाइल यूनिट्स को भी आकर्षित करेगी।