तेंदूपत्ता संग्राहक होंगे संबल योजना में शामिल
   Date18-May-2021

ed4_1  H x W: 0
मुख्यमंत्री ने तेंदूपत्ता संग्राहकों को सिंगल क्लिक से अंतरित किए 191 करोड़ 45 लाख
भोपाल ठ्ठ 17 मई (ब्यूरो)
मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा है कि सभी तेंदूपत्ता संग्राहकों को संबल योजना में सम्मिलित किया जाएगा। इससे संबल योजना के सभी लाभ और कठिनाई के समय परिवारों को मिलने वाली सहायता तेंदूपत्ता संग्राहकों को भी उपलब्ध हो सकेगी। कोरोना के कठिन काल में तेंदूपत्ता संग्राहकों को जारी लाभांश का वितरण इन परिवारों के लिए राहतभरा होगा। मुख्यमंत्री द्वारा प्रदेश के 37 जिलों की 48 जिला यूनियनों को सिंगल क्लिक से 191 करोड़ 45 लाख रुपए की लाभांश राशि तेंदूपत्ता संग्राहकों के खातों में सीधे जारी की गई। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने तेंदूपत्ता प्रोत्साहन पारिश्रमिक (बोनस) वितरण कार्यक्रम को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग द्वारा निवास से संबोधित कर किया।
ऑक्सीमीटर तथा थर्मामीटर की व्यवस्था के निर्देश
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोनाकाल में तेंदूपत्ता के संग्रहण और तेंदूपत्ता जमा कराते समय कोरोना से बचाव की सावधानियां बरतना आवश्यक है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने संक्रमण के प्रति सजगता और बचाव के लिए ऑक्सीमीटर तथा थर्मामीटर की व्यवस्था करने के भी निर्देश दिए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जिन व्यक्तियों को सर्दी, खांसी, जुकाम हैं, वे अपनी बीमारी नहीं छुपाएं। किल कोरोना अभियान के अंतर्गत आने वाले कर्मचारियों को अपनी स्थिति की जानकारी दें। राज्य शासन ने ग्राम स्तर पर आइसोलेशन की व्यवस्था की है। जिन व्यक्तियों को इलाज की आवश्यकता होगी, उनका नि:शुल्क इलाज कराया जाएगा।
समितियों को जारी हुई राशि-कार्यक्रम में वर्ष 2017, 2018 व 2019 के तेंदूपत्ता संग्रहण के बोनस के रूप में 191 करोड़ 45 लाख रुपए का वितरण किया गया। वर्ष 2017 की 40 करोड़ 56 लाख लाभांश की राशि 26 जिला यूनियनों की 81 समितियों को, वर्ष 2018 की 44 करोड़ 34 लाख लाभांश की राशि 34 जिला यूनियनों की 161 समितियों को और वर्ष 2019 की 106 करोड़ 55 लाख लाभांश की राशि 42 जिला यूनियनों की 593 समितियों को जारी की गई। उच्चतम लाभांश वाले प्रथम तीन जिले उमरिया, सिंगरौली और सतना हैं।