बंगाल में भाजपा बहुमत के करीब
   Date30-Apr-2021

aw2_1  H x W: 0
एग्जिट पोल : 5 राज्यों के विधानसभा चुनाव का अनुमान सामने आया
हालांकि बंगाल के 5 पोल में से 4 में ममता को ही सत्ता मिलने का अनुमान
नई दिल्ली ठ्ठ 29 अप्रैल (ए)
पश्चिम बंगाल में मतदान खत्म होने के बाद एग्जिट पोल के नतीजे सामने आ गए हैं। अधिकतर एग्जिट पोल का अनुमान है कि पश्चिम बंगाल में 10 सालों से सत्ता पर काबिज ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस एक बार सरकार बनाने में कामयाब हो जाएगी तो वहीं पिछले चुनाव में महज 3 विधायकों वाली भारतीय जनता पार्टी 100 के पार होगी। कुछ एग्जिट पोल में भाजपा के जीत का भी अनुमान लगाया गया है। सभी एग्जिट पोल में यह समानता है कि लेफ्ट और कांग्रेस गठबंधन को बुरी तरह हार का सामना करना पड़ेगा। साथ ही बंगाल के साथ तमिलनाडु, असम, केरल और पुड्डुचेरी की विधानसभा चुनने के लिए पिछले दो महीने में मतदान हुआ है। इनमें से सबसे ज्यादा चर्चित बंगाल रहा है। यहां भाजपा और तृणमूल में सीधी टक्कर रही। बंगाल के लिए आए 5 एग्जिट पोल में से 4 में ममता बनर्जी को स्पष्ट बहुमत मिलने का अनुमान जाहिर किया गया है। केवल एक में भाजपा सत्ता के करीब दिखाई दे रही है। लेकिन, रुझानों में ममता को सीटों का नुकसान तय दिखाई दे रहा है।
एबीपी न्यूज सी वोटर के एग्जिट पोल के मुताबिक, पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी तीसरी बार सत्ता में लौट सकती हैं, लेकिन उनकी सीटें काफी कम होंगी। 10 साल से बंगाल की सत्ता में काबिज टीएमसी को 152-164 सीटें मिल सकती हैं, तो भाजपा को 109-121 सीटें मिल सकती हैं। कांग्रेस गठबंधन को 14-25 सीटें मिल सकती हैं। एग्जिट पोल के आंकड़े 292 सीटों के हैं, क्योंकि 2 सीटों पर वोटिंग नहीं हो पाई है।
एबीपी न्यूज सी वोटर के एग्जिट पोल के मुताबिक, बंगाल में टीएमसी को 42.1 फीसदी वोट मिल सकते हैं, तो भाजपा को 39.2 फीसदी वोट मिलने का अनुमान है। कांग्रेस और लेफ्ट गठबंधन को 15.4 फीसदी वोट मिल सकते हैं, तो अन्य के खातों में 3.3 फीसदी वोट जाते दिख रहे हैं। 294 सदस्यीय राज्य विधानसभा का चुनाव 27 मार्च को आरंभ हुआ था। मतों की गिनती 2 मई को होगी।
रिपब्लिक टीवी सीएनएक्स के एग्जिट पोल में भाजपा और टीएमसी में कांटे की टक्कर देखने को मिल रही है और भारतीय जनता पार्टी के लिए बहुमत के आंकड़े तक पहुंचने का अनुमान लगाया गया है। रिपब्लिक टीवी-सीएनएक्स के एग्जिट पोल में टीएमसी को 128-138 सीटें मिल सकती हैं, तो भाजपा को 138-148 सीटें मिल सकती हैं। लेफ्ट और कांग्रेस गठबंधन 11-21 सीटों पर सिमट सकता है।
टाइम्स नाउ सी वोटर के एग्जिट पोल के मुताबिक, टीएमसी को 158 सीटें मिल सकती हैं, तो भाजपा को 115 सीटों पर जीत हासिल हो सकती है। लेफ्ट-कांग्रेस को 22 सीटें मिल सकती हैं, तो अन्य के खातों में कोई सीट नहीं जाएगी।
इंडिया टीवी पीपल्स प्लस ने पहले फेज का एग्जिट पोल जारी किया है, जिसके मुताबिक, पहले फेज में 30 सीटों पर हुई वोटिंग में भाजपा को 24-27 सीटें मिल रही हैं, तो टीएमसी को महज 3-6 सीटें मिल सकती हैं, जबकि कांग्रेस और लेफ्ट का खाता खुलता नहीं दिख रहा है।
पिछले विधानसभा चुनाव की बात करें तो 294 सीटों वाले विधानसभा में तृणमूल कांग्रेस के 211 प्रत्याशी जीतकर विधायक बने थे, जबकि 2011 में पार्टी को 184 सीटों पर जीत मिली थी। पिछले विधानसभा चुनाव और 2014 लोकसभा चुनाव के मुकाबले सत्ताधारी पार्टी को अधिक वोट मिले थे। 2016 विधानसभा चुनाव में कांग्रेस और लेफ्ट को 76 सीटें मिली थीं।
2016 के विधानसभा चुनाव में भाजपा को महज 10.2 फीसदी वोट मिले थे, जबकि पार्टी के केवल 3 प्रत्याशियों को जीत मिली थी। हालांकि, 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने यहां 18 सीटों पर कब्जा जमा लिया।