नहीं रहे जस्टिस मोहन शांतनगौदर
   Date26-Apr-2021

sx6_1  H x W: 0
नई दिल्ली ठ्ठ सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश मोहन शांतनगौदर का शनिवार देर रात निधन हो गया। वह 62 वर्ष के थे। न्यायमूर्ति शांतनगौदर ने गुरुग्राम के एक निजी अस्पताल में रविवार देर रात अंतिम सांस ली। वह काफी समय से कैंसर से पीडि़त थे। उनके निधन की खबर कल दोपहर बाद आई थी, लेकिन शाम तक न्यायालय के सूत्रों की ओर से इस खबर को अफवाह करार दिया गया था।
देर रात न्यायमूर्ति शांतनगौदर की जीवन गति रुकने की एक बार फिर खबर आई, जिसकी पुष्टि रजिस्ट्रार कार्यालय के सूत्रों द्वारा की गई है। न्यायमूर्ति शांतनगौदर को फेफड़े में संक्रमण के चलते गुरुग्राम के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था और वह गहन चिकित्सा कक्ष (आईसीयू) में थे। शनिवार देर रात तक उनकी हालत स्थिर बताई गई थी। उन्हें कैंसर की शिकायत थी। उन्हें 17 फरवरी 2017 को शीर्ष अदालत का न्यायाधीश नियुक्त किया गया था।
उनका यहां कार्यकाल पांच मई 2023 तक था।