सरकार ने माना- गांवों में फैल रहा संक्रमण
   Date23-Apr-2021

er9_1  H x W: 0
मंत्री सारंग बोले- ग्रामीणों की सहमति से लगाएंगे कोरोना कफ्र्यू
भोपाल ठ्ठ 22 अप्रैल (ब्यूरो)
सरकार ने पहली बार स्वीकार किया है कि कोरोना अब गांवों में भी तेजी से फैल रहा है। सरकार अब शहरों के अलावा ग्रामीण इलाकों में कोरोना की चेन तोडऩे पर फोकस कर रही है। जिलों का पॉजिटिविटी रेट बढऩे की यह भी एक वजह है। चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि कोरोना की पहली लहर शहरों तक सीमित थी, लेकिन दूसरी लहर गांवों तक पहुंच गई है। इसकी चेन तोडऩे के लिए ग्रामीण की सहमति से कोरोना कफ्र्यू लगाया जाएगा। श्री सारंग ने बताया- इसे लेकर मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कल कैबिनेट की बैठक में मंत्रियों से चर्चा की। बताया गया कि शहरों के बाहर अब तक 19,519 क्वारेंटाइन सेंटर बनाए जा चुके हैं। इनमें 2 लाख 30 हजार से ज्यादा बेड उपलब्ध हैं। यहां बाहर से आने वाले यात्रियों के अलावा गांवों में सर्दी, खांसी, बुखार वाले मरीजों को आइसोलेट भी किया जा रहा है।
छिंदवाड़ा-बुरहानपुर में प्रयोग सफल रहा
श्री सारंग के मुताबिक मुख्यमंत्री ने बैठक में बताया कि ग्रामीण इलाकों में कोरोना की चेन तोडऩे के लिए छिंदवाड़ा और बुरहानपुर में किया गया प्रयोग सफल रहा। जिन गांवों में संक्रमितों की संख्या ज्यादा थी, वहां ग्रामीणों की सहमति से कोरोना कफ्र्यू लगाया गया था। इसी तरह, बुरहानपुर में कुछ गांवों में रहवासियों ने बाहरी लोगों का प्रवेश बंद कर दिया था, जिस कारण दोनों जिलों में पॉजिटिविटी रेट घटने लगा। 20 अप्रैल को छिंदवाड़ा का पॉजिटिविटी रेट 8.1 प्र. रहा। यहां 7 दिन का औसत भी लगभग इतना ही है। इसी तरह बुरहानपुर का पॉजटिविटी रेट 5.8 प्र. है, जबकि 7 दिन का औसत इससे भी कम है।