मास्क और टीकाकरण के प्रति जागरूकता जरूरी - मोदी
   Date19-Apr-2021

es6_1  H x W: 0
वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक में निर्देश
नई दिल्ली ठ्ठ 18 अप्रैल (वा)
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में कोरोना महामारी से उत्पन्न स्थिति की समीक्षा की और कोरोना से बचाव के एहतियाती उपायों तथा 45 वर्ष से अधिक आयु वाले लोगों के टीकाकरण की जरूरत पर बल दिया।
प्रधानमंत्री ने रविवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक में हिस्सा लिया और कोरोना से बचाव तथा कोरोना संक्रमित मरीजों के समुचित उपचार के लिए टेस्टिंग, बेड, दवाइयाँ, वैक्सीन, तथा स्वास्थ्यकर्मियों की जरूरत आदि की जानकारी ली। उन्होंने जनता को हरसंभव सहायता त्वरित रूप से उपलब्ध कराने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए। चर्चा के दौरान प्रधानमंत्री ने इस बात पर विशेष रूप से जोर दिया कि 'दो गज की दूरी, मास्क है जरूरीÓ का पालन सभी लोगों द्वारा किया जाए। प्रधानमंत्री ने वैक्सीनेशन अभियान के महत्व पर बल देते हुए कहा कि प्रशासन 45 साल से ज्यादा की उम्र के सभी लोगों को इस हेतु जागरूक करें। उन्होंने प्रशासन को भी पूरी संवेदनशीलता से वाराणसी के लोगों की हरसंभव सहायता करने के लिए कहा। श्री मोदी ने देश के सभी डॉक्टरों, सभी मेडिकल स्टाफ का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि इस संकट की घड़ी में भी वह अपने कर्तव्य का निष्ठापूर्ण पालन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमें पिछले साल के अनुभवों से सीखते हुए सतर्क रहकर आगे बढऩा है। उन्होंने बताया कि वाराणसी के प्रतिनिधि के रूप में वह आम जनता से भी निरंतर फीडबैक ले रहे हैं। वाराणसी में पिछले 5-6 वर्षों में मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर के विस्तार और आधुनिकीकरण से कोरोना से लडऩे में सहायता मिली है। इसके साथ वाराणसी में बेड्स, आईसीयू और ऑक्सीजन की उपलब्धता को बढ़ाया जा रहा है।
मरीजों की बढ़ी हुई संख्या से उत्पन्न दबाव को देखते हुए हर स्तर पर प्रयास बढ़ाने की जरूरत पर भी प्रधनमंत्री ने विशेष बल दिया। उन्होंने कहा कि जिस तरह वाराणसी प्रशासन ने तेजी के साथ 'काशी कोविड रिस्पोन्स सेंटरÓ स्थापित किया है, वैसी ही तेजी हर कार्य में लाई जानी चाहिए।