वेंटिलेटर बढ़ाने व टीका बनाने के लिए उठाएं ठोस कदम
   Date18-Apr-2021

ws3_1  H x W: 0
नई दिल्ली ठ्ठ 17 अप्रैल (वा)
देश में कोरोना से बिगड़ रहे हालात पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को बैठक बुलाई। इसमें अलग-अलग मंत्रालयों के बड़े अफसर शामिल हुए। बैठक में प्रधानमंत्री ने कहा कि लोगों की जरूरतों को देखते हुए स्थानीय प्रशासन को और ज्यादा सक्रिय और जिम्मेदार होना पड़ेगा, ताकि महामारी पर काबू पाया जा सके।
अधिकारियों के साथ बैठक में श्री मोदी ने कहा कि कोरोना मरीजों की टेस्टिंग, ट्रैकिंग और ट्रीटमेंट का कोई विकल्प नहीं है। प्रधानमंत्री ने अस्पतालों में कोरोना मरीजों को बेड उपलब्ध कराने के लिए तमाम जरूरी कदम उठाने के निर्देश दिए। प्रधानमंत्री ने रेमडेसिविर इंजेक्शन और दूसरी जरूरी दवाइयों की उपलब्धता की समीक्षा भी की। बैठक में श्री मोदी ने पहले से मंजूरी दिए जा चुके ऑक्सीजन प्लांट लगाने की प्रक्रिया में तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि वैक्सीन बनाने में तेजी लाने के लिए देश में उपलब्ध क्षमता का पूरा इस्तेमाल किया जाना चाहिए।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोरोना की स्थिति पर चर्चा करने और महामारी पर अंकुश लगाने के उपाय के लिए नियमित रूप से मुख्यमंत्रियों और अधिकारियों के साथ पहले भी बैठकें करते रहे हैं।
भारत कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर से कराह रहा है और स्वास्थ्य व्यवस्थाएं चरमरा गई हैं। देश में कोविड-19 की बेकाबू होती स्थिति की समीक्षा के लिए पीएम नरेंद्र मोदी आज विभिन्न मंत्रालयों के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे हैं। पीएम मोदगी इस बैठक में शीर्ष अधिकारियों के साथ देश में कोविड-19 की मौजूदा स्थिति और कोविड टीकाकरण अभियान की समीक्षा कर रहे हैं। प्रधानमंत्री ने इससे पहले उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू के साथ राज्यपालों और उपराज्यपालों के साथ बैठक कर कोविड-19 की स्थिति पर चर्चा की थी। साथ ही पीएम मोदी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ दो बार बैठक कर चुके हैं। आज स्वास्थ्य मंत्री डॉ, हर्षवर्धन ने भी 11 से अधिक राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ बैठक की और कहा कि राज्यों को पर्याप्त ऑक्सीडन मुहैया कराया जा रहा है।