रंगपंचमी पर गेर नहीं निकलेगी
   Date01-Apr-2021

rt1_1  H x W: 0
कोरोना को लेकर समीक्षा : मध्यप्रदेश में केवल रविवार को ही रहेगी तालाबंदी- मुख्यमंत्री
भोपाल ठ्ठ 31 मार्च (ब्यूरो)
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश में कोरोना का संक्रमण रोकने के लिए सभी धर्मगुरुओं, सामाजिक संगठनों, समुदायों, राजनीतिक दलों, जन अभियान परिषद, एनसीसी, एनएसएस आदि के माध्यम से जनजागरूकता अभियान चलाया जाए। सभी जिलों में कोरोना के उपचार के लिए बिस्तरों की संख्या यथासंभव बढ़ाई जाए तथा उपचार की उत्कृष्ट व्यवस्थाएँ हों। रंग पंचमी पर गेर, चल समारोह आदि नहीं होंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना रोकथाम के संबंध में पूर्व में जारी निर्देश यथावत रहेंगे। जिन जिलों में रविवार को तालाबंदी की रही थी, वहां रविवार को ही तालाबंदी रहेगी। तालाबंदी का समय जिलों की परिस्थिति अनुसार शनिवार को रात्रि 9 या 10 बजे से सोमवार को प्रात: 6 बजे तक रहेगा। भोपाल, इंदौर, जबलपुर, बैतूल, छिन्दवाड़ा, खरगोन एवं रतलाम शहरों में 15 अप्रैल तक समस्त स्कूल एवं कॉलेजों में शिक्षण बंद रहेगा। महाराष्ट्र से आने वाली तथा महाराष्ट्र जाने वाली बसों का आवागमन 30 अप्रैल तक प्रतिबंधित रहेगा। मुख्यमंत्री चौहान आज मंत्रालय में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की जिलेवार समीक्षा की।
कोरोना संक्रमण में मध्यप्रदेश आठवें स्थान पर- कोरोना संक्रमण के मामले में तुलनात्मक रूप से देश में मध्यप्रदेश आठवें स्थान पर है। मध्यप्रदेश में कोरोना के सक्रिय प्रकरण 17 हजार 96 हैं और कोरोना संक्रमण की गत 7 दिनों की औसत पॉजिटिविटी रेट 8.9 प्रतिशत है।
इंदौर, भोपाल,जबलपुर, खरगोन पर विशेष ध्यान- मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिये कि इंदौर, भोपाल, जबलपुर, खरगोन पर विशेष ध्यान दिया जाये। इन स्थानों पर कुछ माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाकर नियंत्रण करें। भोपाल में 498, इंदौर में 643, जबलपुर में 161 तथा खरगोन में कोरोना के 89 नए प्रकरण आए हैं।
भोपाल जिला प्रशासन की पहल- भोपाल में कोरोना के इलाज के लिए अस्पतालों में बेड क्षमता 4 से 6 हजार है। भोपाल में अनेक धर्मगुरु सार्वजनिक तौर पर वेक्सीन लगवा चुके हैं।