राजनाथसिंह ने आरआर अस्पताल में लगवाया टीका
   Date03-Mar-2021

rt2_1  H x W: 0
अब तक एक 1 करोड़ 48 लाख 54 हजार 136 लोगों का टीकाकरण
नई दिल्ली ठ्ठ 2 मार्च (वा)
रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने आज सेना के रिसर्च एंड रैफरल (आरआर) अस्पताल में कोरोना का टीका लगवाया। वहीं अब तक देश में अब तक एक करोड़ 48 लाख 54 हजार 136 लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है।
टीका लगवाने के बाद श्री सिंह ने ट्विट कर खुद इसकी जानकारी दी। उन्होंने टीका लगवाते हुए अपनी फोटो भी साझा की। उन्होंने कहा मुझे आज आरआर अस्पताल में कोरोना टीके की पहली डोज दी गई। इस टीकाकरण अभियान से देश को कोरोना मुक्त बनाने का संकल्प मजबूत हुआ है। वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित है और इसे लगवाने की प्रक्रिया भी सरल है। एक अन्य ट्विट में उन्होंने लिखा , मैं देश के डॉक्टरों और वैज्ञानिकों के प्रयासों को सलाम करता हूं जिन्होंने बहुत कम समय में वैक्सीन विकसित कर ली है। मैं टीका लगाने के लिए आरआर अस्पताल के स्वास्थ्यकर्मियों का धन्यवाद करता हूं। मैं सभी योग्य लोगों से टीका लगवाने का अनुरोध करता हूं जिससे कि देश कोरोना मुक्त हो सके। वहीं कुछ राज्यों में कोरोना संक्रमण में पिछले दिनों अचानक आई तेजी के बीच राहत की बात यह है कि देशभर में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना से मरने वालों की संख्या और सक्रिय मामले दोनों में कमी दर्ज की गई है। लगातार छह दिन तक कोरोना संक्रमण से मरने वालों की संख्या 100 से अधिक रहने के बाद पिछले 24 घंटों के दौरान इनमें कमी दर्ज की गई और यह 91 रह गई ।
तथा इसी अवधि में नई मामलों की तुलना में कोरोना मुक्त होने वालों की संख्या अपेक्षाकृत अधिक रहने से सक्रिय मामलों में भी पांच दिन बाद गिरावट हुई।
पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना संक्रमण के 12,286 नए मामले आए हैं जिससे संक्रमितों की संख्या एक करोड़ 11 लाख 24 हजार से अधिक हो गई है। पिछले 24 घंटों में 12,464 मरीज स्वस्थ हुए हैं जिसे मिलाकर अब तक एक करोड़ सात लाख 98 हजार 921 लोग कोरोना मुक्त हो चुके हैं। सक्रिय मामले 269 घटने से 1.68 लाख से अधिक हो गए हैं। इसी अवधि में 91 मरीजों की मौत के साथ इस बीमारी से मरने वालों की संख्या एक लाख 57 हजार 248 हो गई है। देश में रिकवरी दर घटकर 97.07 रह गई है और सक्रिय मामलों की दर घटकर 1.51 प्रतिशत हो गई है जबकि मृत्युदर अभी 1.41 फीसदी है।
इस अभियान में 60 वर्ष से अधिक उम्र तथा सहरोगों से पीडि़त 45 वर्ष से ऊपर की आयु के लोगों को टीका लगाया जा रहा है।