नाबालिग के गर्भपात की संभाव्यता की जांच हेतु मेडिकल बोर्ड गठन के निर्देश
   Date03-Mar-2021

rt6_1  H x W: 0
नई दिल्ली ठ्ठ 2 मार्च (वा)
उच्चतम न्यायालय ने एक नाबालिग लड़की के 26 सप्ताह के गर्भ को नष्ट करने संबंधी याचिका पर मंगलवार को मेडिकल बोर्ड के गठन का निर्देश दिया।
मुख्य न्यायाधीश शरद अरविंद बोबडे, न्यायमूर्ति एएस बोपन्ना और न्यायमूर्ति वी रमासुब्रमण्यम की खंड पीठ ने केंद्र सरकार और हरियाणा सरकार को नोटिस भी जारी किया। खंड पीठ ने मेडिकल बोर्ड को 14 वर्षीया नाबालिग गर्भवती लड़की की जांच करके एक सप्ताह के भीतर रिपोर्ट पेश करने का निर्देश दिया। बोर्ड को यह जांच करना है कि बलात्कार की शिकार लड़की की गर्भावस्था को समाप्त करना सुरक्षित होगा या नहीं। बोर्ड में तीन डॉक्टरों को शामिल करने का आदेश दिया गया है, ताकि गर्भावस्था को समाप्त करने की संभाव्यता की जांच की जा सके। लड़की की ओर से वकील वीके बीजू ने खंड पीठ से मेडिकल बोर्ड को यह निर्देश देने का अनुरोध किया।