5 वर्ष में खर्च किए जाएंगे 5 हजार करोड़
   Date08-Feb-2021

az6_1  H x W: 0
5 वर्षीय विकास रोडमैप के जरिए करेंगे ग्वालियर का सुनियोजित विकास - मुख्यमंत्री
ग्वालियर ठ्ठ 7 फरवरी (स्वदेश समाचार)
मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि ऐतिहासिक व पुरातात्विक महत्व के गौरवशाली ग्वालियर शहर की अपनी परंपराएं और जीवन मूल्य हैं। इसे बरकरार रखते हुए प्राचीन शहर की नींव पर आधुनिक तकनीक के जरिए अद्भुत एवं सुंदर ग्वालियर शहर का निर्माण करेंगे। उन्होंने कहा कि पांच वर्षीय विकास रोडमैप के जरिए ग्वालियर का सुनियोजित विकास किया जाएगा। ग्वालियर शहर के विकास पर 5 साल में 5 हजार करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे।
मुख्यमंत्री चौहान ने रविवार को ग्वालियर में केन्द्रीय पंचायती राज एवं ग्रामीण विकास मंत्री नरेन्द्रसिंह तोमर व राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ संबंधित अधिकारियों की बैठक लेकर ग्वालियर विकास के रोडमैप की समीक्षा की। बैठक में ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्नसिंह तोमर, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री ओमप्रकाश सखलेचा, पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री महेन्द्रसिंह सिसौदिया, उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) भारतसिंह कुशवाह, नगरीय विकास एवं आवास राज्यमंत्री ओपीएस भदौरिया व लोक निर्माण राज्यमंत्री सुरेश धाकड़, सांसद विवेक नारायण शेजवलकर, पूर्व मंत्री श्रीमती इमरती देवी व भाजपा जिला अध्यक्ष कमल माखीजानी सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण मौजूद थे।
वेस्टर्न बायपास ग्वालियर का कार्य प्राथमिकता से हो-मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि वेस्टर्न बायपास ग्वालियर शहर के विकास के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है। इस काम को सर्वोच्च प्राथमिकता देकर समय-सीमा में पूर्ण कराया जाए। बायपास के पूरा होने पर रिंगरोड की कल्पना साकार होगी। उन्होंने कहा कि इंदौर के सुपर कॉरीडोर की तरह बायपास का निर्माण कराएं।
स्वच्छता में ग्वालियर को अग्रणी बनाने के गंभीरता से प्रयास हों-मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने निर्देश दिए कि ग्वालियर शहर को स्वच्छता के क्षेत्र में अग्रणी बनाने के लिए गंभीरता से प्रयास किए जाएं। स्वच्छता लोगों की आदत बने, इस दिशा में विशेष प्रयास हों। उन्होंने कहा कि स्वच्छता अभियान में रहवासी संघ, जनप्रतिनिधि सहित समाज भागीदार बने।
स्वर्ण रेखा में घरों का सीवर कदापि न बहे-मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वर्ण रेखा में घरों से पहुंचने वाले मल-जल को बहने से रोकें। स्वर्ण रेखा के आसपास की बसाहटों को सीवर लाइन से जोडऩे का काम अभियान बतौर करें।
समय-सीमा वाले पन्ने निकालकर अपने पास रखें मुख्यमंत्री ने ग्वालियर के पांच वर्षीय रोडमैप की कार्ययोजना के उन पन्नों को निकालकर अपने पास रख लिया, जिन पन्नों में कार्यों को पूरा होने की समय-सीमा दर्शाई गई है। ज्ञात हो रोडमैप में एक वर्ष, एक से तीन वर्ष तथा तीन से पांच वर्ष की अवधि में कार्यों को पूर्ण करने का लक्ष्य रखा गया है।