मुख्यमंत्री ने 20 लाख किसानों के खातों में एक क्लिक में भेजे 400 करोड़ रुपए
   Date28-Feb-2021

we4_1  H x W: 0
भोपाल ठ्ठ 27 फरवरी (ब्यूरो)
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश के 20 लाख किसानों को मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना के तहत 400 करोड़ रुपये की राशि सिंगल क्लिक के माध्यम से उनके खातों में ट्रान्सफर की। दमोह जिला मुख्यालय पर आयोजित राज्यस्तरीय कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने कहा कि हम मध्यप्रदेश को आत्मनिर्भर बनायेंगे। विकास में मध्यप्रदेश को पीछे नहीं रहने देंगे। हमारी सरकार किसानों, गरीबों, माताओं और बहनों के लिये काम करने वाली सरकार है। कोरोना काल से अब तक विभिन्न योजनाओं के तहत हमने करोड़ों रुपये की राशि किसानों के खातों में भेजी है। आने वाले 15 दिनों में हम पिछले साल खराब हुई फसलों की राहत राशि के तौर पर 1500 करोड़ रुपये की राहत भी प्रभावित किसानों के खातों में ट्रान्सफर करेंगे।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा प्रदेश के किसानों की उन्नति एवं समृद्धि के लिये कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में भी प्रदेश के किसानों से गेहूँ, चने का दाना-दाना खरीदा है। इस साल भी खरीदेंगे। दमोह जिले में जिन किसानों का पंजीयन अब तक नहीं हो पाया है, उनके लिये पंजीयन की अवधि बढ़ाई जाएगी। कार्यक्रम में केन्द्रीय संस्कृति एवं पर्यटन राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री प्रहलाद पटेल, खजुराहो सांसद श्री वी.डी. शर्मा, मध्यप्रदेश वेयरहाउसिंग एवं लॉजिस्टिक्स कॉरपोरेशन अध्यक्ष श्री राहुल सिंह और पूर्व मंत्री श्री जयंत मलैया ने भी संबोधित किया।
किसानों से किया संवाद
मुख्यमंत्री किसान-कल्याण योजना के तहत आयोजित राज्यस्तरीय कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने सतना, देवास, शिवपुरी, शाजापुर और सिवनी जिले के किसानों के साथ संवाद भी किया। उन्होंने इस दौरान किसानों से योजना का फीडबैक लिया। साथ ही उनकी समस्यायें भी सुनी और उनके निराकरण के लिये संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए।
दमोह को दी 482 करोड़ से अधिक के विकास कार्यों की सौगात
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने दमोह जिले को करोड़ों रुपये के विकास कार्यों की सौगात दी। उन्होंने राज्य स्तरीय कार्यक्रम में 482 करोड़ रूपये से अधिक लागत के कार्यों का भूमिपूजन और लोकार्पण किया। इसमें महत्वूपर्ण रुप से 325 करोड़ रूपये की लागत से बनने वाले मेडिकल कॉलेज का भूमिपूजन शामिल है।