उज्जैन में जड़ें फैला रहे टीपू प्रेमी, स्थापना दिवस मनाया
   Date18-Feb-2021

se2_1  H x W: 0
उज्जैन ठ्ठ स्वदेश समाचार
देश विरोधी गतिविधियों व उग्रवादी घटनाओं के आरोपों में शामिल रहने वाला संगठन पीएफआई (पॉपुलर फ्रं ट ऑफ इंडिया) उज्जैन में अपनी जड़ें फैलाने में लगा हुआ है। बुधवार को पीएफआई का स्थापना दिवस था। इस दिन को पॉपुलर फ्रंट डे के नाम से मनाया गया। गजब बात यह है कि शहर में पांच स्थानों पर झंडा वंदन किया गया। नागौरी मोहल्ले में एक जनसभा का आयोजन हुआ। बता दें कि यह पहला मामला नहीं है। उज्जैन में गीता जयंती के अवसर पर राम भक्तों पर हुई पत्थरबाजी में भी पीएफआई की संदिग्ध भूमिका समाने आई थी।
क्या है पीएफआई- आतंकवादी संगठन सिमी पर पुलिस की सख्ती के बाद नए संगठन का उदय हुआ। जो मुस्लिम लोगों के बीच कार्य करता है। इसका नाम पीएफआई है। पीएफआई से जुड़े लोगों पर राष्ट्र विरोधी गतिविधियों में शामिल रहने के आरोप लगते रहे हैं। इस कारण कई लोग जेल में भी गए। दूसरी तरफ सीएए, एनआरसी व अन्य छोटे-बड़े हिंसात्मक आंदोलनों को फंड देने का आरोप भी पीएफआई पर लगता रहा है।
सिमी का गढ़ था उज्जैन- आतंकवादी संगठन सिमी का उज्जैन सहित मालवा क्षेत्र गढ़ रहा है। सिमी सरगना सफदर नागौरी उज्जैन से जुड़ा रहा। उसके जेल जाने के बाद ही सिमी पर सख्ती के बाद संगठन की गतिविधि अन्य संगठनों के बैनर तले होने लगी।