प्रदेश में वन क्षेत्र का बढऩा पूरी दुनिया के लिए शुभ समाचार
   Date18-Feb-2021

se4_1  H x W: 0
भोपाल ठ्ठ 17 फरवरी (वा)
मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा है कि वन क्षेत्र में नवाचार बढ़ाने की आवश्यकता है। भोपाल में वन विहार अपने आप में एक बड़ी सौगात है। इसे ऐसे मॉडल के रूप में विकसित करें कि सिंगापुर से भी लोग नाइट सफारी के लिए यहां आएं। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में वन क्षेत्र बढऩा दुनिया के लिए शुभ समाचार है। जलवायु परिवर्तन के इस दौर में यह मनुष्य ही नहीं, प्राणी मात्र की रक्षा के लिए आवश्यक है। उन्होंने इस उपलब्धि के लिए वन विभाग को बधाई दी।
मुख्यमंत्री चौहान प्रशासन अकादमी में मुख्य वन संरक्षक एवं वन मण्डलाधिकारियों की एक दिवसीय कार्यशाला के उद्घाटन सत्र को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने दीप प्रज्जवलित कर कार्यशाला का शुभारंभ किया। वन मंत्री डॉ. कुंवर विजय शाह, प्रमुख सचिव वन श्री अशोक वर्णवाल, प्रधान मुख्य वन संरक्षक श्री राजेश श्रीवास्तव कार्यशाला में उपस्थित थे।
मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि जनता की सेवा और पर्यावरण संरक्षण वन सेवा के अधिकारियों और कर्मचारियों का दायित्व है। वन क्षेत्र में रह रहे भाई-बहनों की समस्याओं के प्रति संवेदनशील रहना जरूरी है। यह सुनिश्चित किया जाए कि सभी पात्र व्यक्तियों को बिना किसी परेशानी के वनाधिकार अधिनियम के अंतर्गत पट्टे प्राप्त हों। उन्होंने कहा कि पर्यावरण को बचाने की जितनी जिम्मेदारी वनवासियों की है, उतनी ही सभ्य समाज की भी है। अत: यह देखना जरूरी है कि वनवासियों को किसी भी प्रकार से प्रताडि़त न किया जाए। वन क्षेत्र में सक्रिय विभिन्न माफिया पर सख्त कार्रवाई आवश्यक है। यह सुनिश्चित किया जाए कि वन क्षेत्र में नए कब्जे न हों। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेश के टाईगर स्टेट बनने और प्रदेश में तेंदुआ, घडिय़ाल और गिद्धों की संख्या बढऩे पर वनाधिकारियों को बधाई दी।