khargon
   Date25-Nov-2021

sw4_1  H x W: 0
खरगोन ठ्ठ 24 नवम्बर (स्वदेश समाचार)
जिले के ऊन थाना क्षेत्र के ग्राम रसगांव में मुफ्त शिक्षा सहित अन्य सुविधाओं का लालच देकर धर्मांतरण कराए जाने का मामला सामने आने के बाद पुलिस ने सख्त एक्शन लिया है। करीब 22 लोगों को धर्मांतरण कराने की प्रक्रिया का वीडियो भी वायरल हुआ था। सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने पर तीखी प्रतिक्रियाएं भी सामने आई थी। ऊन पुलिस ने इस मामले में रूखडिय़ा की रिपोर्ट पर 23 नवंबर को तीन लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। धर्मांतरण के इस खेल में शामिल क्षेत्र की एक महिला, पुरुष को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि मुख्य आरोपी अरुणाचल प्रदेश निवासी युवक फरार है।
पुलिस ने बताया कि पुलिस चौकी ऊन पर रूखडिय़ा निवासी ग्राम रसगांव मालपुरा ने शिकायती आवेदन दिया था, जिसमें 3 नवंबर को रातकरीब 10 बजे गांव के ही विजय ख्यालीराम बड़ोले और उसकी बुआ मंजुला विश्राम बड़ोले एक ईसाई मिशनरी के युवक मारसन लाय निवासी इटा नगर अरुणाचल प्रदेश निवासी के साथ आए थे। इन्होंने रूखडिय़ा और उसके चचेरे भाई रेवाराम बड़ोले को नाती-पोतों की पढ़ाई आदि मुफ्त करवाने के साथ ही अन्य सुविधाएं दिलाने का लालच देकर ईसाई धर्म अपनाने की बात कही। मना करने पर भी पानी छिड़कने लगे, हमें क्रास पहनाया। मामले की गंभीरता को देखते हुए आला अधिकारियों के निर्देश पर धर्मांतरण के लिए उकसाने के मामले में थाना ऊन पर अपराध क्र 430/21 धारा . 3.5 मप्र धार्मिक स्वतंत्रता अधिनियम 2021 का पंजीबद्ध किया जाकर विजय पिता ख्यालीराम बड़ोले और मंजुला पिता विश्राम बड़ोले को गिरफ्तार कर लिया गया, जबकि मारसन फिलहाल फरार है।