bhagwat
   Date23-Nov-2021

er1_1  H x W: 0
नई दिल्ली ठ्ठ 22 नवम्बर (वा)
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत ने कहा कि भौतिक विकास का कोई औचित्य नहीं होता, जब समाज का विकास होगा तो देश का विकास होगा और यही सही मायनों में विकास है। सोमवार को यहां भारत विकास परिषद् के संस्थापक डॉ. सूरज प्रकाश जन्म शताब्दी समापन समारोह के दौरान अपने उद्बोधन में श्री भागवत ने कहा- प्रबुद्ध एवं समृद्ध वर्ग द्वारा समाज का सर्वांगीण विकास ही भारत विकास को चरितार्थ करेगा। भारत विकास परिषद् समाज सेवा के क्षेत्र में एक प्रतिष्ठित संगठन है, जो जरूरतमंद लोगों के उत्थान के कार्य कर रहा है और समाज के विकास का दायित्व निभा रहा है।