amezone
   Date02-Nov-2021

er3_1  H x W: 0
भोपाल ठ्ठ 1 नवम्बर (ब्यूरो)
सर्वोच्च न्यायालय और राष्ट्रीय हरित अधिकरण द्वारा जारी आदेशों के पालन में मध्यप्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा दीपावली के दौरान पटाखों के निर्माण, उपयोग, विक्रय, वितरण एवं प्रस्फोटन के संबंध में दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। प्रदूषण से बचने के लिए ग्रीन पटाखों का प्रयोग होगा। पटाखों की अमेजॉन ऑनलाइन, फ्लिपकार्ट आदि से ऑनलाइन सेल प्रतिबंधित है। सदस्य सचिव मध्यप्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ए. मिश्रा ने बताया कि ग्रीन पटाखों के लिए पेट्रोलियम एण्ड एक्सप्लोसिव सेफ्टी ऑर्गनाइजेशन (पीईएसओ) और नीरी द्वारा स्वैच्छिक वर्गीकरण किया गया है। ग्रीन पटाखों का लोगो पैकेट पर प्रिंट रहेगा। ग्रीन पटाखों में फुलझड़ी, अनार, मेरून शामिल हैं। पटाखों में बेरियम साल्ट आदि विषैले रसायनों का के प्रस्फोटन प्रतिबंधित है।
पंजीकृत निर्माताओं की सूची नीरी की वेबसाइट पर उपलब्ध है।
-पटाखों की तीव्रता प्रस्फोटन स्थल से 4 मीटर पर 125 डीबी(ए) से अधिक नहीं होनी चाहिए, वहीं संवेदनशील क्षेत्रों जैसे अस्पताल, नर्सिंग होम, हेल्थ केयर सेंटर, शैक्षणिक संस्थान, धार्मिक स्थलों से 100 मीटर तक प्रतिबंधित है।
-दीपावली पर्व के समय रात 8 से 10 बजे तक ग्रीन पटाखों का उपयोग सिर्फ उन शहरों में किया जा सकेगा, जहाँ नवम्बर 2020 की स्थिति में वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) मध्यम या उससे कम श्रेणी का है।
-केन्द्रीय एवं राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा दीपावली के पूर्व और दीपावली के 7 दिन बाद तक परिवेशीय वायु की मॉनिटरिंग की जाएगी। इसमें नियमित पैरामीटर के साथ प्रदूषकों जैसे- एल्यूमीनियम, बेरियम, आयरन का विश्लेषण मध्यप्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की सभी प्रयोगशालाओं द्वारा किया जाएगा।